जिला कृषि पदाधिकारी के आदेश के सात महीना बाद भी नहीं दर्ज हुआ केस

जिला कृषि पदाधिकारी खगड़िया के आदेश के सात महीना बाद भी थाना में केस दर्ज नहीं करवाया गया है।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 11:24 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 11:24 PM (IST)
जिला कृषि पदाधिकारी के आदेश के सात महीना बाद भी नहीं दर्ज हुआ केस

जागरण संवाददाता, खगड़िया : जिला कृषि पदाधिकारी खगड़िया के आदेश के सात महीना बाद भी थाना में केस दर्ज नहीं करवाया गया है। मामला लिपिक रविश कुमार की सेवा पुस्तिका कार्यालय से गायब होने का है। इस बाबत मुंगेर के संयुक्त निदेशक और लखीसराय के जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा कई बार पत्राचार किया जा चुका है। हालत यह है कि लिपिक रविश कुमार को करीब सात महीना का वेतनादि नहीं मिल पाया है और इसको लेकर रविश कुमार भी खगडिया कृषि कार्यालय का चक्कर लगाते थक चुके हैं। मिली जानकारी के अनुसार गोगरी के पौरा ओपी अंतर्गत बलतारा गांव के रविश कुमार डेढ़ साल पहले तक जिला मिट्टी जांच प्रयोगशाला में कार्यरत थे। उनका तबादला लखीसराय हो गया। रविश का कहना है कि वे अपनी सेवा पुस्तिका समेत पांच कर्मियों की सेवा पुस्तिका व अन्य कागजात कार्यालय के सहायक अनुसंधान पदाधिकारी बुद्वन महतो को सौंप दिए थे। रिसीव मांगने पर उस समय कहा गया था कि पदाधिकारी रिसीव कैसे देंगे। जब सेवा पुस्तिका की खोज हुई तो चार कर्मियों की सेवा पुस्तिका मिल गई, मगर रविश की सेवा पुस्तिका गायब मिली। रविश कर्मियों व अधिकारियों का वेतन विपत्र तैयार करते थे। इधर, जिला कृषि पदाधिकारी लखीसराय भरत प्रसाद सिंह ने फिर संयुक्त निदेशक शष्य, मुंगेर प्रमंडल मुंगेर को पत्राचार कर अवगत कराया है कि कर्मी रविश की सेवा पुस्तिका नहीं मिलने से एचआरएमएस में डाटा अपडेट नहीं हो पा रहा है। अगर रविश की सेवा पुस्तिका खो गई है, तो सनहा अथवा एफआइआर संबंधित थाना में संबंधित कार्यालय द्वारा दर्ज करवाकर सूचना दी जाए, तो नए सिरे से सेवा पुस्तिका खोला जा सकता है और इससे निदान हो जाएगा। इससे पहले भी लखीसराय के जिला कृषि पदाधिकारी के पत्राचार के आलोक में संयुक्त निदेशक द्वारा खगड़िया जिला कृषि पदाधिकारी को आदेश दिया गया था और जिला कृषि पदाधिकारी खगड़िया द्वारा इस बाबत पत्रांक 844 दिनांक 22 जून 2021 को सहायक निदेशक रसायन, मिट्टी जांच प्रयोगशाला खगड़िया को केस दर्ज कराने का आदेश दिया गया था। मगर जिला कृषि पदाधिकारी का वह आदेश सात महीना से फाइल में दबा हुआ है।

कोट

मामला मेरे संज्ञान में नहीं था। फाइल देखने बाद आगे की प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

शैलेश कुमार, जिला कृषि पदाधिकारी, खगड़िया। बाक्स

पूर्व सहायक निदेशक याचनाश्री ने कर दी सेवा पुस्तिका गायब

जागरण संवाददाता, खगड़िया: खगड़िया जिला मिट्टी जांच प्रयोगशाला के पूर्व लिपिक रविश कुमार ने वर्तमान सहायक अनुसंधान पदाधिकारी बुद्धन महतो को पांच सेवा पुस्तिका समेत अन्य कागजात सौंपे थे। उसमें चार कर्मियों की सेवा पुस्तिका मिल गई, मगर रविश की सेवा पुस्तिका गायब हो गई। इस बाबत सहायक अनुसंधान पदाधिकारी बुद्धन महतो से पूछने पर उनका कहना था कि उन्होंने पांचों सेवा पुस्तिका पूर्व सहायक निदेशक रसायन याचनाश्री को दिया था। याचनाश्री का तबादला हो गया और वे अभी पटना में कार्यरत हैं। सहायक अनुसंधान पदाधिकारी रसायन बुद्धन महतो का कहना हुआ कि याचनाश्री और रविश के बीच आपसी विवाद चल रहा था और बदले की भावना से याचनाश्री ने रविश की सेवा पुस्तिका ही गायब कर दी। उनका यह भी कहना था कि कई बार जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा याचनाश्री को कहा गया कि रविश की सेवा पुस्तिका जमा करें। मगर उन्होंने अब तक जमा नहीं की है। इधर, पटना में कार्यरत याचनाश्री के मोबाइल नंबर 7258809549 पर फोन करके उनका पक्ष लेने का प्रयास किया गया, मगर उन्होंने फोन रिसीव ही नहीं किया। बहरहाल, अधिकारी के भेदभाव का शिकार एक लिपिक हो रहे हैं और पत्राचार की फाइल मोटी हो रही है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept