World AIDS Day 2021: एड्स की चपेट में आ रहे हैं औरंगाबाद के युवा, आंकड़ों में लगातार हो रही बढोतरी

औरंगाबाद मे एड्स युवाओं को अपनी चपेट में ले रहा है। जिले में कुल संक्रमित में से 40 प्रतिशत युवाओं के अंदर एड्स का वायरस मौत बनकर दौड़ रहा है। कुल संक्रमितों में 40 प्रतिशत से अधिक संख्या 25 से 35 वर्ष के उम्र वाले युवाओं की है

Rahul KumarPublish: Wed, 01 Dec 2021 02:02 PM (IST)Updated: Wed, 01 Dec 2021 02:02 PM (IST)
World AIDS Day 2021: एड्स की चपेट में आ रहे हैं औरंगाबाद के युवा, आंकड़ों में लगातार हो रही बढोतरी

औरंगाबाद, जागरण संवाददाता। आज विश्व एड्स दिवस है। संक्रामक बीमारी पर खुलकर बात करने वाला दिन। असुरक्षित यौन संबंध, संक्रमित सूई, ब्लेड व संक्रमित व्यक्ति के खून के संपर्क में आने के कारण जिले में बड़ी संख्या में लोग इसके जद में आ रहे हैं। तमाम जागरूकता कार्यक्रम व प्रावधानों के बावजूद एड्स पाजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। हर साल आंकड़ा में हो रही वृद्धि खतरनाक संकेत दे रही है। वर्ष 2003 से लेकर 25 नवंबर 2021 तक 1328 एड्स संक्रमित मरीज मिले हैं। वर्ष 2005 से लेकर 2021 तक 79 गर्भवती महिलाएं शामिल पॉजिटिव पाई गई हैं।

जिले में तेजी से युवा इसके संपर्क में आ रहे हैं। एड्स युवाओं को अपनी चपेट में ले रहा है। कुल संक्रमित में से 40 प्रतिशत युवाओं के अंदर एड्स का वायरस मौत बनकर दौड़ रहा है। कुल संक्रमितों की आंकड़ा पर नजर डालें तो 40 प्रतिशत से अधिक संख्या 25 से 35 वर्ष के उम्र वाले युवाओं की है। इन संक्रमितों में से पांच प्रतिशत छोटे बच्चे भी शामिल हैं।

एचआइवी जांच व संक्रमितों का आंकड़ा 

वर्ष                    जांच           पॉजीटिव

2006               2433         66

2007               2768          55

2008               2206          37

2009               2248          36

2010               2787          62

2011               2180          69

2012              3199          56

2013               4572         56

2014               6084         75

2015                5124         75

2016                6292         79

2017                7472         113

2018               8956          130 

2019                8802         128

2020                6665         76

2021 (25 नवंबर)  6999         80

कुल                    85389        1249

गर्भवती महिला का आंकड़ा 

वर्ष           जांच          पाजिटिव

2005      102           0

2006       1020        0

2007       1357        0 

2008       920          1

2009        1144       3

2010       2200       6

2011        1651       2

2012        2513       0

2013       3651       1

2014        5768      3

2015        4513       2

2016        5605       5

2017         8058      13

2018         7488       10

2019         7700        13

2020          6471        11

2021          6117        9

कुल          66,278      79

औरंगाबाद के सिविल सर्जन डा. कुमार वीरेन्द्र प्रसाद का कहना है कि, एचआइवी के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। एड्स के प्रति जागरूकता ही इलाज है। सरकार एवं विभाग इसके रोकथाम के लिए बेहद सजग है। सभी जगहों पर इसकी जांच चल रही है। संक्रमित मरीजों को मुफ्त दवा दी जा रही है। अब तक इसका स्थायी इलाज संभव नहीं हो पाया है।

Edited By Rahul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम