मां-बेटी के साथ गंदा काम करने वाला शातिर गिरफ्तार, लगातार वारदात को अंजाम देकर पुलिस को दे रहा था चुनौती

औरंगाबाद बाल सुधार गृह से फरार और गया में लूटकांड में शामिल आरोपित को पुलिस ने धर दबोचा है। पुलिस का कहना है कि आरोपित मां और बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में भी शामिल था। अब पुलिस इसके गैंग के साथियों की तलाश में जुटी है।

Rahul KumarPublish: Tue, 18 Jan 2022 10:47 AM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 10:47 AM (IST)
मां-बेटी के साथ गंदा काम करने वाला शातिर गिरफ्तार, लगातार वारदात को अंजाम देकर पुलिस को दे रहा था चुनौती

संवाद सहयोगी शेरघाटी(गया)। औरंगाबाद बाल सुधार गृह से फरार और गया में लूटकांड व अन्य मामले में फरार चल रहा नीतीश कुमार पासवान को शेरघाटी पुलिस ने रविवार को धर दबोचा। आरोपित मां बेटी के साथ गंदा काम भी कर चुका है। पकड़े गए शातिर आरोपित के निशानदेही पर लूट की दो मोटरसाइकिल बरामद की गई है। उक्त बातें शेरपाटी थाना परिसर में सोमवार को डीएसपी प्रवेंद्र कुमार भारती ने संवाददाता सम्मेलन में दी। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार बदमाश, दुष्कर्म, लूट, चोरी आदि आधा दर्जन से अधिक कांडों का आरोपित रहा है।  डीएसपी ने बताया कि डोभी थाना अंतर्गत पिपरपटी मोड के पास हथियारबंद अपराधकर्मियों के द्वारा यात्रियों से लूटपाट की गई है। मोटरसाईकिल छिन कर जख्मी कर दिया गया है।

उसके  बाद अपराधी जीटी रोड होते हुए शेरघाटी की ओर भागे। जिसका पीछा पीड़ित लोग एवं पीपरघटी के स्थानीय लोगों ने किया। सूचना के बाद शेरपाटी थाना के गश्ती दल को थानाध्यक्ष शेरघाटी द्वारा आवश्यक कार्रवाई की गई। दल एवं ग्रामीणों के सहयोग से एक आरोपित नीतीश कुमार पासवान ग्राम कमलदह थाना परैया जिला गया को एक लोडेड पिस्तौल एवं एक जिंदा कारतूस के साथ पकड़ा गया। फिर इसके निशानदेही पर लूटी गई दो मोटरसाईकिल को बरामद किया गया। लूट के कुछ सामान के साथ इस घटना में शामिल अन्य सहयोगी अपराध कर्मी फरार हो गये। फरार बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर छापामारी की जा रही है। 

मां-बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म में शामिल था नीतीश

डीएसपी ने बताया कि पकड़े गए बदमाश से पूछताछ की गई। वह गया जिले के कोंच थाना क्षेत्र के सोनडीहा सामूहिक दुष्कर्म कांड में आरोपित था। यह घटना वर्ष 2018 में हुई थी। इसमें पुलिस कार्रवाई में वह अन्य साथियों के साथ पकड़ा गया था। चूंकि उस वक्त वह नाबालिग था। इसलिए नामजद आरोपित को औरंगाबाद बाल सुधार गुह में रखा गया था। इधर, औरंगाबाद एसपी कांतेश कुमार मिश्र ने बताया कि नीतीश अपने 18 साथियों के साथ बीते 16 अक्टूबर 21 को फरार हुआ था। उसमें 13 किशोर वापस बाल सुधार गृह आ गए थे। पांच अभी भी फरार चल रहे थे। शेरघाटी डीएसपी ने बताया कि 17 जनवरी को पकड़ा गया नीतीश बालिग है। इसलिए इसे शेरघाटी जेल भेजा गया है। जानकारी हो कि सोनडीहा कांड में न्यायालय ने दोषियों को सजा सुनाया था। लेकिन आरोपित नीतीश का मामला गया के जुमनाइल कोर्ट में चल रहा है। इसलिए इस मामले में ट्रायल फेस कर रहा था।

अलग-अलग मामले में था आरोपित

डीएसपी ने बताया कि यह अदालत का फरारी है। पूछताछ के क्रम में बताया कि वह गिरोह बनाकर गुरुआ थाना में 31 दिसंबर 2021 एवं 8 जनवरी 22 को एवं आमस थाना में 2 जनवरी एवं 8 जनवरी 2022 को को लूट की घटना को अंजाम दे चुका है। इसके पास से एक देसी पिस्तौल, 2 जिन्दा कारतूस 01लूटी गयी बाइक बरामद की गई है।

Edited By Rahul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept