This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Bihar Unlock News Update: अनलॉक-3 के गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाकर रजौली में चलाए जा रहे हैं कोचिंग सेंटर

Bihar Unlock News Update अनलॉक-3 में स्‍कूल कालेजों कोचिंग एवं शिक्षण संस्‍थानों को छूट नहीं मिली। मगर नवादा जिले के रजौली में गाइडलाइन का उल्‍लंधन कर कई स्‍थानों पर कोचिंग सेंटर चल रहे हैं। एक कोचिंग में मारपीट के बाद मामला खुला। प्रशासन पर भी सवाल उठे

Sumita JaiswalWed, 23 Jun 2021 02:37 PM (IST)
Bihar Unlock News Update: अनलॉक-3 के गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाकर रजौली में चलाए जा रहे हैं कोचिंग सेंटर

रजौली(नवादा), संवाद सहयोगी। Bihar Unlock News Update: पूरे बिहार में आज 23 जून से अनलॉक-3 की शुरू हो गया है। इसमें स्‍कूल कालेजों, कोचिंग एवं शिक्षण संस्‍थानों को छूट नहीं मिली। मगर राज्य सरकार द्वारा अनलॉक-3 में लागू किए गए पाबंदियों एवं जिला प्रशासन द्वारा जारी आदेश का रजौली में पालन नहीं हो रहा है। अनलॉक के गाइडलाइन की  धज्जियां उड़ाकर रजौली प्रखंड क्षेत्र में कलाली रोड, बभनटोली, जगदीश मार्केट समेत कई जगहों पर इन दिनों कोचिंग सेंटर खोलने की जानकारी मिल रही है। एक कोचिंग में मारपीट की घटना के बाद मामले का खुलासा हुआ। कोचिंग संचालक का यह कहना कि पूरे लॉकडाउन में कोचिंग खुले रहे हैं, प्रशासन पर भी सवाल खड़े कर रहा है।

नियम ताक पर रखकर कराई जा रही पढ़ाई

सुबह 6 बजे से सभी कोचिंग सेंटर चलाए जा रहे हैं। इन कोचिंग सेंटरों में कोरोना संक्रमण के संभावित खतरे से निपटने के लिए ना तो सोशल डिस्टेंसिंग नाम की कोई चीज है और ना ही कोचिंग सेंटर में पढ़ने वाले बच्चों के चेहरे पर मास्क ही है और ना हीं कोचिंग संचालक द्वारा हैंड सेनीटाइजर आदि की व्यवस्था ही की गई है। हद तो यह है कि कोचिंग में पढ़ाने वाले शिक्षक भी बगैर चेहरे पर मास्क लगाए ही बच्चों को पढ़ाने में लगे हैं। सारे नियम-कानूनों को ताक पर रखकर कोचिंग संचालकों द्वारा धड़ल्ले से कोचिंग चलाई जा रही है। इन कोचिंग सेंटरों में दर्जनों बच्चे पढ़ने आते हैं।

प्रशासनिक कार्रवाई पड़ी सुस्‍त

कोचिंग सेंटर चलाए जाने का खुलासा तब हुआ जब सोमवार को रजौली के कलाली रोड स्थित एक कोचिंग सेंटर में कोचिंग संचालक राज राजेश द्वारा एक छात्र के साथ मारपीट की गई। हालांकि कोचिंग संचालक द्वारा छात्र के साथ मारपीट किए जाने के बाद छात्र के परिजनों ने कोचिंग सेंटर में हंगामा भी किया। लॉकडाउन के बाद अनलॉक-1 से लेकर अनलॉक- 3 तक शिक्षा संस्थानों को बंद रखने के आदेश के बाद भी प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा कोचिंग सेन्टरों की जांच नहीं की जा रही है। प्रशासनिक कार्रवाई पूरी तरह से सुस्त पड़ गई है। जिसकी वजह से इन दिनों रजौली में प्रायः सभी कोचिंग सेंटर चल रहे हैं।

कोचिंग संचालक की बात पर प्रशासन कटघरे में

हालांकि छात्र के साथ मारपीट के बाद जब कोचिंग संचालक राज राजेश से मीडियाकर्मियों ने पूछा कि अनलॉक-3 में सरकार द्वारा कोचिंग संस्थानों के बंद रखने के के निर्देश दिए गए हैं तो फिर वे कैसे कोचिंग चला रहे हैं। जिस पर कोचिंग संचालक राज राजेश ने पलट कर कहा कि रजौली में केवल उनका ही कोचिंग सेंटर नहीं चल रहा है बल्कि जितने भी कोचिंग सेंटर रजौली में है, वे सभी चल रहे हैं। प्रशासन क्यों नहीं उन्हें बंद करवा देती है। अन्य कोचिंग सेंटर तो पूरे लॉकडाउन तक चलें हैं, वे तो 11 जून से कोचिंग चला रहे हैं। कोचिंग संचालक की यह बात ने लॉकडाउन व अनलॉक में प्रशासनिक कार्रवाई पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

इस संदर्भ में एसडीओ चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि रजौली में जिस भी जगहों पर कोचिंग सेंटर चल रही है तो इसकी जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Sumita Jaiswal

गया में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!