महाबोधि मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता करने की प्लानिंग, सिक्यूरिटी के लिए किए जा सकता है ये काम

महाबोधि मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता करने की प्लानिंग की जा रही है। बोधगया में नए पुलिस बैरक भवन का निरीक्षण करते हुए डीएम ने इसे जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही महाबोधि मंदिर के सुरक्षा इंतजाम का भी जायजा लिया।

Rahul KumarPublish: Sat, 29 Jan 2022 10:15 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 10:15 AM (IST)
महाबोधि मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता करने की प्लानिंग, सिक्यूरिटी के लिए किए जा सकता है ये काम

जागरण संवाददाता, गया। महाबोधि मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता करने पर जोर दिया जा रहा है। इसी कड़ी में गया के डीएम डा. त्यागराजन एसएम ने शुक्रवार को बोधगया पहुंचकर हरेक बिंदू से समीक्षा की। वह पूरे महाबोधि मंदिर के इर्द-गिर्द घुम-घुमकर वहां के इनर सिक्यूरिटी व आउटर सिक्यूरिटी हर स्थिति की पड़ताल की। आपात स्थिति से निपटने के लिए वहां सुरक्षा संबंधी किस तरह की तैयारी है इसके बारे में वहां के स्थानीय अधिकारियों से जानकारी ली।

उनके साथ रहे बोधगया टेंपल मैनेजमेंट कमेटी के सचिव एन. दोरजे ने इन सबके बारे में विस्तार से बताया। इसके साथ ही डीएम ने बोधगया इलाके में पर्यटन विकास की संभावनाओं पर भी चर्चा की। यहां आने वाले पर्यटकों के लिए जरूरी व्यवस्था पर भी जानकारी ली। बोधगया में नए पुलिस बैरक भवन का निरीक्षण करते हुए डीएम ने इसे जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही महाबोधि मंदिर के चारो तरफ की चारदीवारी को और ऊंचा करने की जरूरत बताई। बीटीएमसी कार्यालय के पुराने भवन का मलवा अभी तक नहीं हटाया गया है। इसे अविलंब हटाकर वहां निर्माण कार्य को शुरू कराते हुए उसे पूरा कराने का निर्देश दिया गया। इस निरीक्षण के दौरान गया सदर एसडीओ इंद्रवीर कुमार, नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी कुमार ऋत्विक, बोधगया के बीडीओ, सीओ व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

70 गरीबों को सौंपे राशन कार्ड

बोधगया के कालचक्र मैदान में शुक्रवार को जरूरतमंद लोगाें के बीच डीएम डा. त्यागराजन एसएम ने राशन कार्ड बांटे। इनमें वैसे लोग शामिल हैं जो रिक्शा चलाकर अपना जीवन यापन करते हैं। इसके अलावा कई ऐसे लोगों को भी कार्ड दिया गया जो भिक्षावृत्ति करते हैं। जिलाधिकारी ने ऐसे पूर्व से चिह्रित व चयनित 70 लोगों को राशन कार्ड सौंपे। इन लाभुकों से कहा गया कि सरकारी नियमानुसार इन सभी को प्रति परिवार सदस्य पांच किलो राशन हर महीने दिया जाएगा। फरवरी माह में राशन का आवंटन होने पर वे अपने नजदीकी जनवितरण दुकान पर जाकर राशन का उठाव कर सकते हैं।

Edited By Rahul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept