वन विभाग के अधिकारी के पटना और नवादा आवास पर निगरानी का छापा, कैश और ज्वेलरी बरामद

नवादा में शुक्रवार की सुबह सुबह वन विभाग के रेंज अधिकारी के यहां विशेष निगरानी की इकाई ने छापेमारी की है। बताया जाता है कि अखिलेश सिंह पिछले सात साल से नवादा में पोस्टेड हैं। उनका पटना आवास को भी खंगाला जा रहा है।

Rahul KumarPublish: Fri, 28 Jan 2022 10:48 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 11:08 AM (IST)
वन विभाग के अधिकारी के पटना और नवादा आवास पर निगरानी का छापा, कैश और ज्वेलरी बरामद

जागरण टीम, नवादा।  नवादा नगर के मंगर बिगहा स्थित रेंजर अखिलेश्वर प्रसाद के किराए के मकान में विशेष निगरानी इकाई ने शुक्रवार की सुबह छापेमारी की। आय से अधिक संपत्ति, वित्तीय अनियमितता, भ्रष्टाचार के मामले में यह कार्रवाई शुरू की गई है। विशेष निगरानी इकाई के डीएसपी चंद्रभूषण के नेतृत्व में घर की तलाशी ली जा रही है। प्रारंभिक सूचना के मुताबिक रेंजर के घर से काफी नगदी और जमीन से जुड़े कागजात मिले हैं। फिलहाल तलाशी जारी है। नवादा के अलावा पटना स्थित आवास पर भी छापेमारी चल रही है। रेंजर अखिलेश्वर प्रसाद नवादा, रजौली व कौआकोल वन क्षेत्र के प्रभार में हैं। विशेष सतर्कता न्यायाधीश, पटना के तलाशी वारंट के आदेश के आलोक में विशेष निगरानी इकाई के एडीजी नैयर हसनैन खां के निर्देश पर छापेमारी चल रही है।

डीएसपी चंद्रभूषण ने बताया किस्पेशल विजिलेंस यूनिट में भ्रष्टाचार से संबंधित एक शिकायत आई थी। जिसके बाद 27 जनवरी को मुकदमा दर्ज किया गया है। भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम व आइपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसके बाद घर की तलाशी शुरू की गई है। फिलहाल नवादा में तलाशी के क्रम में जो संपत्ति मिली है, उससे आय से अधिक संपत्ति और वित्तीय अनियमितता का मामला बनता है। घर से काफी नगद राशि मिली है। तलाशी पूर्ण होने के बाद फाइनल फीगर बताया जाएगा। निगरानी इकाई के सब इंस्पेक्टर रंजीत कुमार, शकील खां समेत विशेष निगरानी इकाई की एक विशेष टीम छापेमारी कर रही है। बता दें कि रेंजर अखिलेश्वर प्रसाद पिछले सात सालों से नवादा में पदस्थापित हैं और नालंदा के रहने वाले हैं। चर्चा है कि रेंजर ने आरा मशीन संचालकों से मंथली बांध रखा था।

Edited By Rahul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept