कंपकंपाती ठंड से ठिठुर रहे हैं लोग फिर भी सासाराम में नहीं हो रहा अलाव का इंतजाम

पूरे बिहार में कुछ दिनों से शीतलहर और कनकनी से लोग परेशान हैं। सासाराम में सर्दी का सितम जारी है। इस हाड़ कंपा देने वाली ठंड में भी नगर निगम द्वारा अलाव का इंतजाम नहीं किया गया है। इससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है।

Rahul KumarPublish: Thu, 20 Jan 2022 01:02 PM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 01:02 PM (IST)
कंपकंपाती ठंड से ठिठुर रहे हैं लोग फिर भी सासाराम में नहीं हो रहा अलाव का इंतजाम

जागरण संवाददाता,सासाराम। जिले में कड़ाके की ठंड से लोग काफी परेशान हैं। सर्दी के सितम से बचने के लिए तरह तहर के उपाए किए जा रहे हैं।  पिछले चार दिनों से लगातार चल रही शीतलहर ने आम लोगों की मुश्किलें काफी बढ़ा दी है। दिन भर चल रही बर्फीली हवाओं से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। बुधवार को जिले में अधिकतम 16 और न्यूनतम पांच डिग्री सेल्सियस तापमान रिकार्ड किया गया। दो दिनों से इलाके में सूर्य भगवान के एक बार भी दर्शन नहीं हुए। धूप नहीं होने की वजह से लोगों की और परेशानी बढ़ जा रही है।

वहीं मौसम विभाग के अनुसार अगले एक सप्ताह तक मौसम में सर्दी रहने की संभावना है। राज्य के कई जिलों में बारिश को लेकर भी अलर्ट जारी किया गया है। हाड़ कंपा देने वाली ठंड में भी  नगर निगम प्रशासन द्वारा कहीं पर भी अलाव की व्यवस्था नहीं की गई है। कोरोना गाइडलाइन के कारण स्कूलों की छुट्टियां होने से बच्चों को कुछ राहत मिली है। ठंड के कारण घर के बुजुर्गों व बच्चों का बुरा हाल है। जाड़े से बचने के लिए लगातार, रजाई, कंबल, हीटर, ब्लोअर आदि लोग खरीद रहे हैं।

जबकि आर्थिक रूप से कमजोर लोग दिनभर सूखी लकड़ी- पत्तियां आदि चुनकर शाम को खाना बनाने के साथ इसी आग से अपने शरीर को भी गर्म करने का प्रयास करते हैं। शहर के रेलवे स्टेशन, बस पड़ाव, पोस्ट आफिस चौक समेत अन्य जगहों पर मजदूर तबके के लोग खुद के पैसे से लकड़ी आदि का जुगाड़ कर ठंढ से बचने की जद्दो -जहद करते नजर आते हैं। सड़क के किनारे फुटपाथों या खुले आसमान के नीचे गुजर बसर करने वाले लोगों का बुरा हाल है।नगर निगम प्रशासन की तरफ से इसके लिए कोई प्रबंध नहीं दिखाई दे रहा है। विभाग के जिम्मेदार भी इसे लेकर कुछ भी बताने से परहेज करते हैं।

Edited By Rahul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम