नवादा में बैंक परिसर में ब्लेड से शिक्षक का बैग काट उड़ाए एक लाख, पासबुक प्रिंट कराने के दौरान वारदात को दिया अंजाम, गार्ड ने नहीं ली दिलचस्पी

पीड़ित शिक्षक अपनी पत्नी के साथ बैंक में रुपये निकालने पहुंचे थे। शिक्षक दंपती ने बैंक से 1 लाख रुपये की निकासी की और उसे बैग में रख लिया। इसके बाद पासबुक प्रिंट कराने में जुट गए। तभी शातिरों ने ब्लेड से बैग काटकर रुपये उड़ा लिए।

Prashant Kumar PandeyPublish: Tue, 23 Nov 2021 05:57 PM (IST)Updated: Tue, 23 Nov 2021 05:57 PM (IST)
नवादा में बैंक परिसर में ब्लेड से शिक्षक का बैग काट उड़ाए एक लाख, पासबुक प्रिंट कराने के दौरान वारदात को दिया अंजाम, गार्ड ने नहीं ली दिलचस्पी

 संवाद सहयोगी, नवादा : नवादा नगर स्थित भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में शातिरों ने एक शिक्षक का बैग काटकर एक लाख रुपये गायब कर दिया। पीड़ित शिक्षक मो. हसीबउद्दीन कौआकोल प्रखंड के पांडेय गंगौट स्थित सरकारी विद्यालय में पदस्थापित हैं और रोह थाना क्षेत्र के रोह बाजार के निवासी हैं। घटना 22 नवंबर की बताई गई है। इस बाबत पीड़ित ने नगर थाना में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पीड़ित शिक्षक अपनी पत्नी के साथ बैंक में रुपये निकालने पहुंचे थे। शिक्षक दंपती ने बैंक से 1 लाख रुपये की निकासी की और उसे बैग में रख लिया। इसके बाद पासबुक प्रिंट कराने में जुट गए। 

अपराधियों ने ब्लेड से बैग काटकर रुपये गायब कर दिया, गार्ड ने मामले में नहीं ली दिलचस्पी

भीड़ का फायदा उठाते हुए अपराधियों ने ब्लेड से बैग काटकर रुपये गायब कर दिया। पासबुक प्रिंट कराने के बाद पासबुक रखने के लिए बैग खोला तो रुपये गायब मिले। जांच करने पर पता चला कि बैग को ब्लेड से काटा गया। शिक्षक दंपती ने वहां पर शोर भी मचाया। लेकिन तबतक अपराधी रुपये लेकर चंपत हो गए। पीड़ित शिक्षक की पत्नी ने बताया कि बगल में बैंक गार्ड भी मौजूद थे। लेकिन वो उनसे घटना की जानकारी लेने के बजाए वहां से हट गए। जिसके बाद उन्होंने नगर थाना में पहुंच कर प्राथमिकी दर्ज कराई। 

सीसीटीवी फुटेज जांच में हो सकती है पहचान

- पीड़ित ने बैंक परिसर में लगे सीसी कैमरे की फुटेज की जांच कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि फुटेज की छानबीन में अपराधियों का पता चल सकता है। उन्होंने पुलिस प्रशासन से अविलंब कार्रवाई की मांग की है। इधर, बैंक परिसर में आपराधिक घटना से लोगों में नाराजगी है। लोगों का कहना है कि बैंक परिसर में अपराधियों की सक्रियता है। लेकिन पुलिस उनपर नकेल नहीं कस पा रही है। पहले बैंक से रुपये की निकासी करने वाले ग्राहकों से बाहर में पैसे छीन लिए जाते थे। अब अपराधी इतने बेखौफ हो गए हैं कि बैंक के भीतर ही वारदात को अंजाम देने लगे हैं।

 छत की ढलाई कराने को निकाले थे रुपये- पीड़ित ने बताया कि घर में निर्माण कार्य चल रहा है। छत की ढलाई होने वाली है। इसलिए आवश्यक सामान खरीदने और मजदूरों को पैसा देने के लिए राशि की निकासी की थी। लेकिन अपराधियों ने उनके सपनों पर पानी फेर दिया।

Edited By Prashant Kumar Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept