अब लाभुकों को मिलेगा एक किलो गेंहू व चार किलो चावल, गेंहू की नहीं हो रही खरीदारी, बढ़े दाम से सरकार ने लिया निर्णय

 अब लाभुकों को पीडीएस दुकानों से फ्री दी जाने वाली अनाज के वितरण में सरकार ने बदलाव किया है। जून 2022 से जन वितरण प्रणाली की दुकानों के द्वारा अब प्रति लाभुकों को एक किलो गेंहू एवं चार किलो चावल का वितरण किया जाएगा।

Prashant Kumar PandeyPublish: Mon, 16 May 2022 03:06 PM (IST)Updated: Mon, 16 May 2022 03:06 PM (IST)
अब लाभुकों को मिलेगा एक किलो गेंहू व चार किलो चावल, गेंहू की नहीं हो रही खरीदारी, बढ़े दाम से सरकार ने लिया निर्णय

 जागरण संवाददाता, औरंगाबाद : सरकारी क्रय केंद्रों पर गेंहू की नहीं हो रही खरीदारी और बढ़े दाम के कारण अब लाभुकों को पीडीएस दुकानों से फ्री दी जाने वाली अनाज के वितरण में सरकार ने बदलाव किया है। जून 2022 से जन वितरण प्रणाली की दुकानों के द्वारा अब प्रति लाभुकों को एक किलो गेंहू एवं चार किलो चावल का वितरण किया जाएगा।

 अबतक प्रति लाभुकों को फ्री में तीन किलो चावल एवं दो किलो गेंहू मिल रहा है। इसके अलावा तीन रुपये प्रति किलो चावल एवं दो रुपये प्रति किलो गेहूं मिलता है। यानी प्रति लाभुकों को हर माह दस किलो अनाज मिलता है जिसमें पांच किलो फ्री दी जाती है। शुक्रवार को खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग भारत सरकार द्वारा निर्गत आदेश के आलोक में इस वित्तीय वर्ष के अगले 10 महीनों के लिए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम अंतर्गत अंत्योदय एवं पीएचएच कैटेगरी के लिए चावल एवं गेहूं के आवंटन को संशोधित किया गया है। 

संशोधित आवंटन के आलोक में राज्य सरकार द्वारा जून 2022 से जन वितरण प्रणाली के दुकानों पर गेहूं एवं चावल को दो अनुपात तीन के स्थान एक अनुपात चार के अनुपात में अनाज का वितरण किया जाएगा। बताया जाता है कि गेहूं का मूल्य बढ़ जाने के कारण किसान क्रय केंद्रों पर न बेचकर निजी दुकानदारों के पास बेच रहे हैं। क्रय केंद्रों पर सन्नाटा पसरा है।

Edited By Prashant Kumar Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept