This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Kaimur News: चैनपुर में डायरिया के प्रकोप से हड़कंप, एक और व्यक्ति की मौत, पहले जा चुकी है पांच जानें

इन दिनों डायरिया का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। बीते एक सप्ताह के अंदर पांच लोगों की मौत हो चुकी है जबकि दर्जनों लोग गंभीर रूप से बीमार हैं। जिनका इलाज चल रहा है। वही एक व्यक्ति को गंभीर रूप में भभुआ सदर अस्पताल रेफर किया गया है।

Prashant KumarSat, 24 Jul 2021 03:26 PM (IST)
Kaimur News: चैनपुर में डायरिया के प्रकोप से हड़कंप, एक और व्यक्ति की मौत, पहले जा चुकी है पांच जानें

संवाद सूत्र, चैनपुर (भभुआ)। प्रखंड क्षेत्र में इन दिनों डायरिया का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। बीते एक सप्ताह के अंदर पांच लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि दर्जनों लोग गंभीर रूप से बीमार हैं। जिनका इलाज चल रहा है। वही एक व्यक्ति को गंभीर रूप में भभुआ सदर अस्पताल रेफर किया गया है। हालांकि, मेडिकल टीम के द्वारा जिन क्षेत्रों में डायरिया का प्रकोप बढ़ा हुआ हैं वहां लगातार कैंप किया जा रहा है। बावजूद कुछ ऐसे भी लोग हैं जो रोग को छिपा कर काल के गाल में समा जा रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार बीते एक सप्ताह में ग्राम इसिया में एक ही घर की दो सगी बहनों में अंशु कुमारी एक वर्ष तो दूसरी खुशी कुमारी तीन वर्ष की मौत हो चुकी है। अंशु कुमारी की जुड़वा बहन खुशबू कुमारी एक वर्ष अभी गंभीर रूप से बीमार है।  जिसका इलाज जारी है।

बात करें ग्राम पंचायत सिकंदरपुर की तो ग्राम सिकंदरपुर में डायरिया के प्रकोप की खबर पर चैनपुर मेडिकल टीम के द्वारा उन क्षेत्रों में जाकर दवा वितरण करते हुए लोगों को जागरूक कर तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई गई थी। लेकिन कुछ ऐसे भी लोग थे जिनके द्वारा रोग को सामान्य समझते हुए छिपा लिया गया। जिसका नतीजा यह हुआ कि गुरुवार की रात 45 वर्षीय रामाधार राम पिता स्वर्गीय नथुनी राम की मौत हो गई। 

इसके दो दिन पूर्व सिकंदरपुर के ही निवासी मनोज राम के 4 वर्षीय पुत्र विद्यार्थी राम की मौत हो गई थी, वहीं ग्राम सिकंदरपुर के ही निवासी पोशू राम की सास जो कि ग्राम तिवई की निवासी है, अपनी पुत्री के यहां आई हुई थी डायरिया के कारण उनकी मौत हो गई। जबकि गंभीर रूप से बीमार खिचड़ू राम पिता किसान राम उम्र 32 वर्ष की स्थिति गंभीर है, जिन्हें चैनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोगों के द्वारा इलाज के लिए लाया गया था। जहां से बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

वहीं ग्रामीणों की मानें तो लगभग आधा दर्जन से अधिक लोग निजी चिकित्सालय में अपना इलाज करा रहे हैं, जबकि लगभग आधा दर्जन लोगों को चैनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से पहुंची मेडिकल टीम के द्वारा दवा मुहैया करवाकर इलाज किया गया है। शुक्रवार चैनपुर मेडिकल टीम के द्वारा ग्राम इसिया एवं सिकंदरपुर में लंबे समय तक कैंप करते हुए डायरिया से पीडि़त मरीजों को चिह्नित कर दवा वितरण किया गया है। लोगों को साफ सफाई आदि की जानकारी देते हुए डायरिया से बचाव किस तरीके से किया जाना है। उसके विषय में जानकारी दी गई है।

चैनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ मनीष कुमार के द्वारा बताया गया कि शुक्रवार को इसिया एवं सिकंदरपुर में मेडिकल टीम के साथ डॉ. अभिषेक चंद्र पटेल, डॉ. योगेंद्र यादव एवं एएनएम मंजूलता आदि की मौजूदगी में डायरिया से पीडि़त लोगों का इलाज किया गया है। सिकंदरपुर में लगभग आधा दर्जन लोग अभी भी प्रभावित हैं। जबकि इसिया में स्थिति सामान्य हो चुकी है। स्थानीय आशा को क्षेत्र में लगातार नजर बनाए रखने के लिए निर्देशित किया गया है। 

Edited By: Prashant Kumar

गया में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!