आयुर्वेद अपना मजबूत करें शरीर की प्रतिरोधक क्षमता

कोरोना संक्रमण का असर लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ा है। संक्रमण से बचाव के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होना जरूरी है। आयुर्वेद अपना कर इसे मजबूत बना सकते हैं। आयुष मंत्रालय भारत सरकार ने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने को लेकर दिशा-निर्देश जारी किया है।

JagranPublish: Thu, 20 Jan 2022 01:41 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 01:41 AM (IST)
आयुर्वेद अपना मजबूत करें शरीर की प्रतिरोधक क्षमता

पटना। कोरोना संक्रमण का असर लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ा है। संक्रमण से बचाव के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होना जरूरी है। आयुर्वेद अपना कर इसे मजबूत बना सकते हैं। आयुष मंत्रालय, भारत सरकार ने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने को लेकर दिशा-निर्देश जारी किया है। ठंड व संक्रमण काल में हल्के गर्म पानी का सेवन हमेशा करें। इससे शरीर को भी आराम मिलता है। प्रतिदिन 30 मिनट योगासन-प्राणायाम और ध्यान करें। योग व ध्यान का अभ्यास योग गुरु के मार्गदर्शन में करें। भोजन बनाने के दौरान हल्दी, जीरा, धनिया, लहसुन, दालचीनी आदि गर्म मसालों का अधिक से अधिक उपयोग करें।

---------

ऐसे बढ़ाएं रोग

प्रतिरोधक क्षमता

-सुबह के समय में 10 ग्राम (एक चम्मच) च्यवनप्राश का सेवन करें।

-मधुमेह रोगी शुगर फ्री च्यवनप्राश लें।

-दिन में एक या दो बार तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, मुनक्का से निर्मित हर्बल चाय एवं काढ़ा का सेवन करें। स्वाद के लिए गुड़ व नींबू का रस मिला सकते हैं।

-रात को सोने से पूर्व 150 मिली गर्म दूध में दो चुटकी हल्दी पाउडर मिलाकर पीएं। हल्दी में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं।

---------

गर्म पानी से करें गरारे

ठंड के मौसम में गले संबंधी परेशानी अधिक होती है। ऐसे में गर्म पानी में एक चम्मच नमक डाल गरारे करें। सुबह और शाम दोनों समय नासिका में तिल का तेल, नारियल तेल व घी लगाएं। हल्के गर्म पानी को दो से तीन मिनट तक मुंह में रख गरारे करें। सूखी खांसी और गले में खराश होने पर दिन में एक बार पुदीने की पत्ती अथवा अजवायन के साथ भाप लें। दो से तीन बार गुड़, शहद के साथ लौंग पाउडर मिला कर ले सकते हैं। कई दिनों तक खांसी होने पर चिकित्सकों से परामर्श लें।

.................

आयुर्वेद पद्धति के जरिए अपने शरीर को हमेशा स्वस्थ रख सकते हैं। अच्छे स्वास्थ्य के लिए बेहतर खान-पान और सही दिनचर्या का पालन करना जरूरी होता है।

-डा. सुशील कुमार झा, चिकित्सक, पटना आयुर्वेद कालेज

-ठंड व संक्रमण काल में हल्के गर्म पानी का सेवन से शरीर को मिलता है आराम

-भोजन में हल्दी, जीरा, धनिया, लहसुन, दालचीनी आदि गर्म मसालों का अधिक उपयोग

--------

-150 मिली गर्म दूध में दो चुटकी हल्दी पाउडर मिला रात को सोने से पहले पीएं

-30 मिनट योगासन-प्राणायाम और ध्यान प्रतिदिन करें

-2 से तीन बार गुड़, शहद के साथ लौंग पाउडर मिलाकर लेने से खांसी और गले में खराश से मिलेगी राहत

------

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept