Gaya News: बिहार-झारखंड की सीमा पर चली गोली, नक्सली नेता के जख्‍मी होने की आशंका

बिहार-झारखंड की सीमा पर स्थित पैनी गांव के पास रविवार की रात गोलीबारी होने का मामला सामने आया है। थानाध्यक्ष नईयर एजाज अहमद ने बताया कि रविवार की रात में किसी नक्सली नेता को गोली लगने की सूचना मिली है।

Prashant KumarPublish: Tue, 07 Dec 2021 01:00 PM (IST)Updated: Tue, 07 Dec 2021 01:00 PM (IST)
Gaya News: बिहार-झारखंड की सीमा पर चली गोली, नक्सली नेता के जख्‍मी होने की आशंका

संवाद सूत्र, इमामगंज (गया)। बिहार-झारखंड की सीमा पर स्थित पैनी गांव के पास रविवार की रात गोलीबारी होने का मामला सामने आया है। थानाध्यक्ष नईयर एजाज अहमद ने बताया कि रविवार की रात में किसी नक्सली नेता को गोली लगने की सूचना मिली है। सूचना मिलते ही पुलिस ने घटनास्थल पर छानबीन की। स्थानीय डॉक्टरों के यहां भी घायल व्यक्ति की खोजबीन की गई, लेकिन कुछ भी पता नहीं चल सका। जानकारी के बाद पता चला कि पैनी गांव के एक व्यक्ति की गाड़ी से घायल को इलाज के लिए रानीगंज ले जाया गया है। घायल व्यक्ति झारखंड के चतरा जिले के प्रतापपुर थाना क्षेत्र के चंदरी गांव का रहने वाला है। घटना की सूचना प्रतापपुर पुलिस को दी गई।

प्रतापपुर पुलिस ने छापेमारी करके गया में गोली लगने से घायल शेखर पांडेय को पकड़ा है। घायल शेखर का इलाज प्रतापपुर पुलिस की देखरेख में चल रहा है। थानाध्यक्ष ने बताया कि मामला संदेहास्पद है। जांच चल रही है। उन्होंने बताया कि घायल व्यक्ति के बयान पर प्रतापपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। वहां की प्राथमिकी कॉपी आने के बाद पूरी जानकारी पता चलेगी। मालूम हो कि नक्‍सलियों द्वारा बिहार पंचायत चुनाव को प्रभावित करने के लिए लगातार पर्चे चस्‍पा किए जा रहे थे। तरह-तरह की अफवाहें उड़ाई जा रही थी। पुलिस जब तक समझ पाती, तब तक नक्‍सलियों ने बड़ी वारदात काे अंजाम दे डाला। नक्‍सलियों ने मुखबिरी के आरोप में एक ही परिवार के चार सदस्‍यों की हत्‍या कर घर के बाहर ही फांसी पर लटका दिया था।

इससे पहले भी नक्‍सलियों ने कई वारदातों को अंजाम दिया है। बड़ी बात है कि बिहार और झारखंड की सीमा पर नक्‍सलियों ने कब्‍जा कर लिया है। बिहार पुलिस और सीआरपीएफ मिलकर लगातार कार्रवाई कर रही है। कुछ नक्‍सलियों को सरेंडर भी कराया गया था, जबकि कुछ मुठभेड़ में मारे गए थे।

Edited By Prashant Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept