बंगलादेश से बंगाल के रास्ते बिहार में विदेशी सोने की हो रही तस्करी, गया तीन ट्रेनों से साढ़े सात किलो सोना बरामद

हावड़ा और नई दिल्ली को जोड़ने वाली ग्रैंड कॉर्ड रेल-मार्ग पर महत्वपूर्ण एक्सप्रेस ट्रेनों से सोनाचांदी के अलावे मादक पदार्थों का अवैध तस्करी का खेल उजागर होता रहा है। गया में ही पिछले 13 दिनों साढ़े सात किलों सोना ट्रेनों से बरामद किया गया है।

Rahul KumarPublish: Mon, 17 Jan 2022 03:03 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 07:46 AM (IST)
बंगलादेश से बंगाल के रास्ते बिहार में विदेशी सोने की हो रही तस्करी, गया तीन ट्रेनों से साढ़े सात किलो सोना बरामद

जागरण संवाददाता,गया । बंगलादेश से बंगाल के रास्ते भारत में हावड़ा और नई दिल्ली को जोड़ने वाली ग्रैंड कॉर्ड रेल-मार्ग पर विदेशी सोने की बिस्किट की तस्करी काफी तेज हो गई। नव वर्ष में गया जंक्शन पर 13 दिनों में तीन ट्रेनों से साढ़े सात किलो सोने की बिस्किट के साथ तीन तस्कर की गिरफ्तारी हो चूकी है। बता दें कि गया जंक्शन पर रविवार को डीआरआई पटना ने आरपीएफ टीम की सहयोग से हावड़ा-इंदौर शिप्रा एक्सप्रेस से एक तस्कर को डेढ़ किलो सोना के साथ गिरफ्तार किया गया। यह कार्रवाई डीआरआई पटना ने आरपीएफ टीम की सहयोग से किया। डीआरआई पटना ने छापेमारी एवं बरामदगी के संबंध में आरपीएफ के साथ एक संयुक्त रिपोर्ट बनाई गई।

डीआरआई पटना की टीम का सहयोग करते हुए आरपीएफ के उपनिरीक्षक विक्रम देव सिंह,सहायक उपनिरीक्षक रामसेवक, सहायक उप निरीक्षक अरविंद कुमार श्रीवास्तव, प्रधान आरक्षी अनिल कुमार सिंह, प्रधान आरक्षी रवि कमल,आरक्षी शशि शेखर एवं आरक्षी नरेंद्र कुमार एवं सीआइबी के प्रभारी निरीक्षक एचके ठाकुर, प्रधान आरक्षी सुभाष चंद्र सिंह,आरक्षी दीपक ओझा शामिल थे। लगातार सोना व मादक पदार्थो का तस्करी के बाद आरपीएफ और जीआरपी सतर्क हो गए है।

चार जनवरी को सोना तस्करों की हुई थी गिरफ्तारी

नव वर्ष के पहले सप्ताह में चार जनवरी को गया जंक्शन पर डीआरआई व आरपीएफ की टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए दो ट्रेनों में छापामारी कर छह किलोग्राम विदेशी सोने के साथ उतर प्रदेश के मिर्जापुर जिले के देहात कोतवाली मिर्जापुर के रहने वाले दो तस्कर को गिरफ्तार किया गया था। बरामद विदेशी सोने का अनुमानित मूल्य दो करोड़ 88 लाख 36 हजार रुपए आंकी गई थी। डीआरआई पटना के अनुसार दोनों तस्कर के विरुद्ध केस दर्ज कर जेल भेज दिया गया था। यह छापेमारी डीआरआई पटना ने हावड़ा कालका एक्सप्रेस और हावड़ा इंदौर शिप्रा एक्सप्रेस में छापेमारी कर कार्रवाई की गई थी। यह छापेमारी भी डीआरआई व आरपीएफ की टीम ने संयुक्त से की थी।

वहीं, चार जनवरी को हटिया इस्लामपुर एक्सप्रेस ट्रेन से मादक पदार्थ 14 किलोग्राम गांजा के साथ एक तस्कर व नौ जनवरी को गया जंक्शन पर 18624 हटिया इस्लामपुर एक्सप्रेस के सामान्य कोच से मादक पदार्थ गांजा के साथ दो तस्कर को आरपीएफ की टीम ने गिरफ्तार किया था। 12 जनवरी को ऋषिकेश हावड़ा योग नगरी एक्सप्रेस से 61 कछुए बरामद किया गया था।

हावड़ा और नई दिल्ली को जोड़ने वाली ग्रैंड कॉर्ड रेल-मार्ग पर महत्वपूर्ण एक्सप्रेस ट्रेनों से सोना,चांदी के अलावे मादक पदार्थों का अवैध तस्करी के खेप मिलती रही है। बीते वर्ष 2021 में 23 अप्रैल को भी गया जंक्शन पर रेल पुलिस को बड़ी सफलता मिली थी। रेल पुलिस की टीम ने आसनसोल-भावनगर स्पेशल ट्रेन से चांदी की 27 सिल्लियों के साथ दो को गिरफ्तार किया था। रेल पुलिस के अनुसार आगरा की दुकानों में दोनों सिल्ली बेचने का धंधा करते थे। पकड़े गए दोनों आरोपी सहोदर भाई थे। इसी प्रकार 2021 में ही गया जंक्शन पर खड़ी देहरादून हावड़ा एक्सप्रेस स्पेशल से रेल पुलिस ने जांच के दौरान 117 पीस कछुआ बरामद किया था। ट्रेन के कोच में तस्करी कर लाए जा रहे थे।

Edited By Rahul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept