बक्सर-मोहनियां एनएच सड़क की मंजूरी मिलते ही टेंडर की प्रक्रिया शुरू, 45 किमी लंबी व 16 मीटर होगी चौड़ाई

टेकारी नहर के पास एनएच 30 से जोड़ने के लिए 2.3 किलोमीटर की बाईपास सड़क बनेगी। 319 ए के इस नेशनल हाईवे सड़क में पांच बड़े पुल का निर्माण होगा।इस नेशनल हाईवे के निर्माण पर 427 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी।

Prashant Kumar PandeyPublish: Sun, 23 Jan 2022 03:39 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 03:39 PM (IST)
बक्सर-मोहनियां एनएच सड़क की मंजूरी मिलते ही टेंडर की प्रक्रिया शुरू, 45 किमी लंबी व 16 मीटर होगी चौड़ाई

 संवाद सूत्र, रामगढ़: सब कुछ ठीक ठाक रहा तो चालू वित्तीय वर्ष में बक्सर मोहनियां नेशनल हाईवे सड़क का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा इस बड़े प्रोजेक्ट की मंजूरी मिलते ही बक्सर चौसा मोहनियां पथ के निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया में विभाग जुट गया है। माना जा रहा है कि चालू वित्तीय वर्ष के मार्च-अप्रैल तक सड़क निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। इसके लिए कोई एलाइनमेंट चेंज होने की संभावना नहीं दिख रही है। इस प्रोजेक्ट की मंजूरी मिलते ही इस पथ से जुड़े लोगों के विकास के रास्ते भी खुल जाएंगे। साथ ही इस महत्वपूर्ण मार्ग के बनने से दो जिलों के साथ दो प्रदेशों का दिल जुड़ जाएगा। 

इस नेशनल हाईवे सड़क के निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण का कार्य भी प्रारंभ हो गया है। नेशनल हाईवे 319 ए के निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण के लिए भू-अर्जन विभाग ने भूमि सत्यापित कर एनएचए को सौंप दिया है। दो जिलों को जोड़ने वाली इस महत्वपूर्ण पथ के निर्माण से रामगढ़ बाजार की भौगोलिक स्थिति में फिलहाल कोई बदलाव नहीं होना है। यहां रामगढ़ गोड़सरा व बंदीपुर तीनों मौजा से गुजरने वाली सड़क के लिए पर्याप्त भूमि होने से सभी मकान सुरक्षित रहेंगे। हालांकि कुछ लोगों को नोटिस जा भी सकती है। इसके लिए भू अर्जन व एनएच के अधिकारियों का दल इस मुख्य पथ की वस्तु स्थिति से एक बार अवगत होगा। 

तीनों मौजा से अधिग्रहित होने वाले भूमि के स्वामित्व को रिपोर्ट आते ही भू-अर्जन विभाग द्वारा नोटिस का तामिला कराया जा सकता है। इसके बाद नेशनल हाईवे सड़क का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। जिन लोगों की भूमि सड़क निर्माण में अधिग्रहित होगी उन्हें मार्केट वैल्यू के हिसाब से मुआवजा स्वामित्व को मिलना चाहिए। ताकि उन्हें घर मकान टूटने का मलाल नहीं रहेगा। हालांकि इस तरह का मुआवजा नहीं मिलने का प्रावधान नेशनल हाईवे अथॉरिटी द्वारा की जा रही है। उन्हें सर्किल रेट पर मुआवजा देने की बात कही जा रही है। जिससे लोगों को काफी नुकसान होने का अंदेशा बना हुआ है। 45 किलोमीटर लंबी इस सड़क को 10 मीटर पीच व छह मीटर फ्लैंक के साथ 16 मीटर चौड़ा बनाना है।

इसके बाद बाजार में नाला निर्माण भी होना है। इसको लेकर एनएच व भू-अर्जन विभाग एक एक बिंदुओं पर चर्चा कर आगे की कार्रवाई कर रहा है। इस राष्ट्रीय राजमार्ग के बनने से राजधानी व महानगर का सफर सुहाना हो जाएगा। अब इस पथ पर दिन रात वाहनों का परिचालन भी शुरू हो जाएगा। विकास के साथ-साथ लोगों को कई रोजगार भी मिलेगा। रामगढ़ में बाईपास सड़क बनाने के पूर्व के प्रस्ताव के खारिज होने से बाजार के रास्ते सड़क के निकलने का मार्ग भी प्रशस्त हो गया है। इसके लिए फाइनल प्रोजेक्ट की स्वीकृति प्रदान हो गई है।

बक्सर मोहनियां के बीच पांच पुलों का होगा निर्माण:

नेशनल हाईवे सड़क निर्माण के दौरान इस मार्ग में पांच नया पुल का भी निर्माण होगा। बक्सर मोहनियां पथ के इस नेशनल हाईवे मार्ग को लंबे समय तक सुचारू रखने के लिए इसमें पड़ने वाली पांचों नदियों में बड़ा पुलिया का निर्माण होगा। जिसमें पनसेरवां व अंकोढ़ी दुर्गावती नदी, नुआंव के पजरांव धर्मावती तथा चौसा के पास गोरिया व बक्सर के पास नदी शामिल है। इन सभी नदियों में नई तकनीक के आधार पर पुल बनना है। जिसकी चौड़ाई दस मीटर होगी। इसके अलावा अन्य छोटी पुलिया भी बनेगी। 

कहते हैं पदाधिकारी 

इस संबंध में नेशनल हाईवे के कार्यपालक अभियंता संजीव चौधरी ने बताया कि बक्सर मोहनियां नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट की मंजूरी मिल गई है। टेंडर के लिए कागजी प्रक्रिया चल रही है। इसी वर्ष मार्च तक सभी कार्य संपन्न होने का अनुमान है। उसके बाद इस मार्ग निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। इस राष्ट्रीय राजमार्ग पर 427 करोड़ से अधिक राशि खर्च होगी। अधिग्रहित भूमि का मुआवजा भू स्वामी को सर्किल वैल्यू पर तीन गुना से अधिक दिए जाने का प्रावधान है। फिलहाल रामगढ़ बाजार में जमीन एक्वायर की जरूरत नहीं दिख रही है।

Edited By Prashant Kumar Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम