पाकिस्तान के दो टुकड़े नहीं हुए होते तो भारत को होती परेशानी : मंत्री

भारत अमन पसंद देश है। पडोसी देश अकारण हीं हमसे दुश्मनी पाले रहते हैं। गनीमत रही कि 71 की लड़ाई में भारत ने पाकिस्तान को सबक सिखाकर बांग्लादेश का निर्माण किया। नहीं तो आज दोनों तरफ से भारत को परेशानी होती।

JagranPublish: Thu, 07 Oct 2021 12:47 AM (IST)Updated: Thu, 07 Oct 2021 12:47 AM (IST)
पाकिस्तान के दो टुकड़े नहीं हुए होते तो भारत को होती परेशानी : मंत्री

मोतिहारी । भारत अमन पसंद देश है। पडोसी देश अकारण हीं हमसे दुश्मनी पाले रहते हैं। गनीमत रही कि 71 की लड़ाई में भारत ने पाकिस्तान को सबक सिखाकर बांग्लादेश का निर्माण किया। नहीं तो आज दोनों तरफ से भारत को परेशानी होती। 71 में बांग्लादेश के पाकिस्तान से अलग होने से कम से कम एक तरफ से तो भारत को शांति जरूर मिली है। नहीं तो कतिपय कारणों से भारत के अधिकांश पड़ोसी देश इसकी तरक्की से जलते हैं। उक्त बातें बिहार सरकार में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने शहर के मिस्कॉट मुहल्ला स्थित मुजीब बालिका प्लस टू विद्यालय के स्थापना दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कही। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्र सरकार व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार सरकार लगातार महात्मा गांधी के सपनों को साकार करने की दिशा में अग्रसर में है। गांधी को गांधी बनाने में सबसे बड़ी भूमिका चंपारण की रही है। राजकुमार शुक्ल ने एक साधारण किसान होते हुए भी गांधी जी को अपनी जिद व जुनून से चंपारण की धरती पर बुला लिया। चंपारण की धरती से समय समय पर पूरा देश अलौकिक होता रहता है। गांधी के विचारों व सपनो को पूरा करने के लिए नीतीश कुमार की अगुवाई में बनी सरकार में लगातार काम किया जा रहा है। पंचायती राज में महिलाओं को आरक्षण मिलना, शिक्षा के क्षेत्र में लगातार काम इसके नजीर हैं। नीतीश सरकार हर पंचायत में हाई स्कूल खोलने की कवायद कर रही है। बच्चियों में अब पढ़ने की ललक आई है। यहां बता दें कि विद्यालय की 50वें स्थापना दिवस पर आयोजित इस कार्यक्रम में पहुंचे मंत्री श्री चौधरी ने सबसे पहले विद्यालय के संस्थापक कुमार कमला सिंह के विद्यालय परिसर में स्थापित की गई प्रतिमा का अनावरण किया। इसके बाद धर्म समाज संस्कृत विद्यालय के पूर्व छात्रों द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ हुआ कार्यक्रम का आगाज हुआ। वहीं आरती झा ने अन्य छात्राओं के साथ स्वागत गीत गाकर सभी आगन्तुको का मन मोह लिया। कार्यक्रम में उपस्थित बिहार सरकार के गन्ना व विधि मंत्री सह स्थानीय विधायक प्रमोद कुमार ने कहा कि संस्थापक कुमार कमला सिंह जीवन के अंतिम घड़ी तक नप के पार्षद रहे। वे खुद आपातकाल में साथ में जेल गए थे। उन्होंने कहा कि शिक्षा मंत्री नरेंद्र मोदी व नीतीश कुमार के सपनों को साकार करने के लिए हर मुमकिन प्रयास कर रहे हैं। यही कारण है कि आज शिक्षकों की स्थिति बिहार में बेहतर हुई है। उन्होंने बिना नाम लिए कांग्रेश व राजद पर पर तंज कसते हुए कहा कि पचास साल तक एक पार्टी ने देश पर राज किया। लेकिन सड़क व शिक्षा पर कुछ काम नही हुआ। वहीं मौके पर मौजूद जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार ने कहा कि शिक्षा विभाग सीधे लोगों से जुड़ा हुआ है। वातावरण बढि़या बने इसका लगातार प्रयास किया जा रहा है। मंच का संचालन विद्यालय के शिक्षक राजीव कुमार झा ने किया। मौके पर विद्यालय के प्रधानाध्यापक विजय कुमार सिंह, केसरिया विधायक शालिनी मिश्रा, जदयू जिलाध्यक्ष रतन सिंह पटेल, भाजपा के जिलाध्यक्ष प्रकाश अस्थाना, डा लालबाबू प्रसाद, मोहिबुल हक, खुशबू त्रिवेदी, विशाल कुमार साह, मनोज कुमार सिंह, पूर्व जिप अध्यक्ष मंजू देवी, अभिरंजन सिंह आदि उपस्थित थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept