बक्सर में रेल पटरियों पर उतरे छात्र, हावड़ा-दिल्ली मुख्य रेल पथ घंटो रहा जाम

बक्सर आरआरबी-एनटीपीसी की परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए मंगलवार को बक्सर में कइ

JagranPublish: Tue, 25 Jan 2022 08:48 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 08:48 PM (IST)
बक्सर में रेल पटरियों पर उतरे छात्र, हावड़ा-दिल्ली मुख्य रेल पथ घंटो रहा जाम

बक्सर : आरआरबी-एनटीपीसी की परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए मंगलवार को बक्सर में कई अभ्यर्थियों ने रेल चक्का जाम कर दिया। रेल चक्का जाम की जाने से बक्सर में जहां दो ट्रेनें रोकी गई है, वहीं अलग-अलग स्टेशनों पर कई ट्रेनों को खड़ी हो गईं। हालांकि, दिल्ली तक जाने वाली श्रमजीवी तथा दानापुर सिकंदराबाद एक्सप्रेस को सासाराम के रास्ते निकाला गया, जबकि हावड़ा-दिल्ली पूर्वा एक्सप्रेस को गया पीडीडीयू कि रास्ते निकाला गया। पटना कोटा एक्सप्रेस को छपरा ग्रामीण-वाराणसी के रास्ते निकाला गया। मधुपुर हमसफर एक्सप्रेस को भी गया रूट से निकाला गया। मंगलवार की दोपहर 12.06 बजे से शाम 4.29 बजे तक आरा से पीडीडीयू जंक्शन तक परिचालन बाधित रहा। ट्रेन का मार्ग बदल जाने के कारण कई यात्रियों को काफी परेशानी हुई, जिन्होंने रिजर्वेशन कराया था, उनको इस बात की चिता थी कि उनके टिकट रद होंगे अथवा नहीं? हालांकि, रेल अधिकारियों ने यह आश्वस्त किया है कि यात्रियों के टिकट रद होने पर उन्हें पैसे वापस होंगे। बाद में शाम साढ़े चार बजे प्रशासनिक अधिकारियों के काफी समझाने तथा रेलवे के वरीय अधिकारियों तक उनकी बात पहुंचाने का आश्वासन देने के बाद छात्रों ने रेल पटरी खाली कर दिया। इसके बाद टेनों का परिचबाद ट्रेनों का परिचालन शुरू हो गया। पहले से ही तैयार थी पुलिस की टीम छात्रों के प्रदर्शन की अधिकारियों को पूर्व सूचना मिल चुकी थी ऐसे में रेलवे स्टेशन परिसर में व्यापक सुरक्षा इंतजाम किए गए थे। नगर थानाध्यक्ष दिनेश कुमार मालाकार, जीआरपी थानाध्यक्ष रामाशीष प्रसाद, आरपीएफ पोस्ट प्रभारी दीपक कुमार तथा नगर यातायात प्रभारी अंगद सिंह के साथ ही टाइगर मोबाइल की टीम के साथ भारी संख्या में पुलिस बल पहुंचे थे। छात्र बाजार समिति रोड से अंबेडकर चौक होते हुए रेलवे स्टेशन पहुंचे। लगातार छात्रों को समझाने बुझाने का प्रयास किया जाता रहा, लेकिन छात्र अपनी मांगों पर अड़े रहे। उनका कहना था कि रेलवे के सक्षम अधिकारी जब तक परीक्षा में हुई धांधली के कारण उनके भविष्य के साथ हुए खिलवाड़ को देखते हुए कोई उचित निर्णय नहीं लेते तब तक वह पटरियों से नहीं हटेंगे।

एसडीएम को मांग पत्र सौंपने के बाद भी प्रदर्शन करते रहे परीक्षार्थी

प्रदर्शनकारियों के यातायात बाधित किए जाने के कारण प्लेटफार्म संख्या एक पर डाउन अहमदाबाद-बरौनी, प्लेटफार्म संख्या तीन पर पटना झाझा पैसेंजर ट्रेनों को छात्रों ने रोक कर रखा गया था। छात्रों के प्रदर्शन की सूचना मिलने पर अनुमंडल पदाधिकारी धीरेंद्र कुमार मिश्रा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी गोरख राम भी मौके पर पहुंच गए। स्टेशन प्रबंधक राजन कुमार के साथ उन्होंने छात्रों को समझाने बुझाने का प्रयास किया। प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों के एक दल के द्वारा दिन में तकरीबन 2.30 बजे अनुमंडल पदाधिकारी को अपना मांग पत्र भी सौंपा गया, लेकिन इसके बाद भी छात्रों का दूसरा गुट रेल पटरियों पर जमा रहा काफी समझाने बुझाने के बाद शाम तकरीबन साढ़े चार बजे बात बनी। रेलवे स्टेशन प्रबंधक राजन कुमार ने बताया कि दिन में 12:06 बजे से परिचालन प्रभावित था। शाम 4:29 बजे बक्सर से पहली गाड़ी के रूप में अहमदाबाद-बरौनी एक्सप्रेस को रवाना किया गया।

एहतियात के तौर पर मंगाए गए अतिरिक्त पुलिस बल

रेलवे स्टेशन पर मौजूद छात्र समझाने के बाद भी नहीं मान रहे थे। तकरीबन 2:00 बजे जब प्रशासन को लगा कि छात्र नहीं हटेंगे तो अतिरिक्त सुरक्षा बल मंगाए गए। उधर औद्योगिक थाना अध्यक्ष मुकेश कुमार तथा महिला थाना अध्यक्ष नीतू प्रिया भी सदल बल मौके पर पहुंच गई थीं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम