This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

चलती ट्रेन से गिरकर दुकानदार की मौत

आरा। दानापुर रेलवे मंडल अन्तर्गत आरा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या-दो पर सोमवार की दोपहर पटना-सि

JagranMon, 11 Jun 2018 08:54 PM (IST)
चलती ट्रेन से गिरकर दुकानदार की मौत

आरा। दानापुर रेलवे मंडल अन्तर्गत आरा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या-दो पर सोमवार की दोपहर पटना-सिकंदराबाद एक्सप्रेस ट्रेन से गिरकर एक दुकानदार की मौत हो गई। हादसे में दोनों पैर कटने से घायल दुकानदार ने सदर अस्पताल, आरा में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। जिसके बाद परिजनों के क्रंदन से माहौल गमगीन हो गया। मृतक संजय शर्मा(40वर्ष) टाउन थाना के ¨बद टोली अखाड़ा निवासी हीरा लाल शर्मा का पुत्र था। शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया गया।

-------

बहन को लाने जा रहा था जबलपुर: घटना के संबंध में बताया जा रहा कि ¨बद टोली अखाड़ा निवासी संजय शर्मा अपने बेटे गो¨वदा के साथ बहन को लाने के लिए जबलपुर जा रहा था। इस बीच आरा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या-दो पर पटना-सिकंदराबाद एक्सप्रेस ट्रेन पर चढ़ने के दौरान गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। हादसे में दोनों पैर कट गया। बाद में आरपीएफ एवं जीआरपी के सहयोग से घायल को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर उसने दम तोड़ दिया।

------------

छोटे भाई की शादी को लेकर चल रही थी तैयारी: टाउन थाना क्षेत्र के ¨बद टोली अखाड़ा निवासी हीरा लाल शर्मा को कुल चार पुत्र थे। जिसमें संजय शर्मा मांझिल था। वह बांस टाल में लकड़ी का दुकान चलाता था। छोटे भाई अनील शर्मा की शादी को लेकर तैयारियां चल रही थी। 23 जून को शादी की तिथि निर्धारित थी। शादी को लेकर ही संजय बहन को लाने जबलपुर जा रहा था लेकिन होनी को कुछ और मंजूर था। छोटे भाई की शादी से पहले बड़े भाई की अर्थी निकल गई। जिससे माहौल गमगीन हो गया। बताया जा रहा कि संजय शर्मा जिस समय जबलपुर बहन को लाने जा रहा था उस समय उसकी पत्नी लीलावती देवी अपने बच्चों को लेकर मायके जा रही थी। वह भी बच्चों को लेकर पति के साथ स्टेशन गई थी, लेकिन होनी को कुछ और मंजूर था। परिवार के आंखों सामने ही संजय ट्रेन से गिरकर काल के गाल में समा गया। पति के वियोग में लीलावती का रो-रोकर बुरा हाल था। मां के साथ बच्चे भी रो रहे थे। संजय की शादी जगदीशपुर के पलिया गांव में हुई थी। मौत के बाद सात बच्चों के सिर से पिता का साया हमेशा के लिए उठ गया है। हादसे की जानकारी मिलने के बाद जदयू के जिलाध्यक्ष अशोक शर्मा एवं मीरगंज के वार्ड सदस्य पति अशोक ¨सह समेत कई लोग अस्पताल पहुंच गए थे।

Edited By Jagran

भोजपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!