अमरपुर में चार हल्‍का कर्मचारियों पर 19 पंचायतों के कार्य जिम्मा, जानिए लोगों की परेशानी

राजस्व रसीद कटाने नाम दाखिल खारिज आय आवासीय सहित अंचल से संबंधित अन्य कार्य के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । सरकार की कुव्‍यवस्‍था की वहज से यहां 19 पंचायतों पर मात्र चार हल्‍का कर्मचारी कार्य कर रहे हैं।

Amrendra Kumar TiwariPublish: Sun, 24 Jan 2021 04:03 PM (IST)Updated: Sun, 24 Jan 2021 04:03 PM (IST)
अमरपुर में चार हल्‍का कर्मचारियों पर 19 पंचायतों के कार्य जिम्मा, जानिए लोगों की परेशानी

जागरण संवाददाता, बांका । महज चार हल्का कर्मचारियों के भरोसे 19 पंचायत का जिम्मा है। इस कारण आम लोगों को राजस्व रसीद कटाने, नाम दाखिल खारिज, आय, आवासीय सहित अंचल से संबंधित अन्य कार्य के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । स्थिति ऐसी है कि एक - एक राजस्व कर्मचारी को चार से पांच निजी लोगों से अंचल से संबंधित सभी कार्य कर रहे हैं । यही कारण है कि आम लोग आर्थिक शोषण का शिकार हो रहे है । बिचौलिए के चक्‍कर में लोगों को राजस्‍व की  फर्जी रसीद भी मिल रही है। लोग इसको लेकर परेशान है।  

अवैध कमाई के चक्‍कर में जैसे तैसे काट दिए जा रहे हैं राजस्‍व रसीद

बताते चलें कि इन दलालों के हाथ सरकारी अभिलेख लगने से व्यापक पैमाने में छेड़छाड़ भी किया गया है । जो आये दिन ऐसी शिकायत देखने को भी मिलती है । अवैध कमाई के चक्कर में एक जमाबंदी वह खाता खेसरा की जमीन को एक से अधिक लोगों के नाम राजस्व रसीद काट दिया गया है । जिसके कारण जमीन विवाद के मामले में काफी बढोतरी भी हुई है । वैसे, बांका में बिचौलियों पर कार्रवाई के बाद गुलजार रहने वाले गोला चौक के समीप बनहरा कचहरी में सन्नाटा पसरा रहता है ।

इन चार राजस्व कर्मचारी के जिम्मा है पंचायत 

विकास कुमार झा -फतेहपुर, अमरपुर नगर पंचायत, रतनपुर मकद्दुमा एवं विशनपुर । गयादीन कुमार यादव -कुशमाहा, लक्ष्मीपुर चिरैया, गरीबपुर, महादेवपुर एवं पवई । शंभू टूड्डु -बल्लीकित्ता, सलेमपुर, भरको, शोभानपुर एवं कोलबुजुर्ग तथा संतोष कुमार चौधरी के जिम्में वैजूडीह, सुल्तानपुर, भीखनपुर भदरिया एवं तारडीह पंचायत है ।

क्‍या कहती हैं सीओ

सीओ स्‍वाति कृष्‍णा ने कहा कि राजस्व कर्मचारी के कमी के कारण अंचल का कार्य काफी प्रभावित है । जिसके कारण समय पर मामले का निष्पादन भी नहीं हो पा रहा है । राजस्व कर्मचारी को निजी लोगों से कार्य कराने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।

 

Edited By Amrendra kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept