Weather Update 23 January 2022: कोल्‍ड डे के साथ हल्‍की बारिश ने बिगाड़ा मौसम, जानिए कोसी-सीमांचल और पूर्व बिहार का मौसम?

Weather Update 23 January 2022 बूंदाबांदी बार‍िश के बाद मौसम का मिजाज पूरी तरह बदल गया है। मौसम का ये हाल पूर्व बिहार के भागलपुर बांका के अलावा कोसी और सीमांचल के इलाकों में भी है। सुबह से ही इन इलाकों में...

Abhishek KumarPublish: Sun, 23 Jan 2022 10:02 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 10:02 AM (IST)
Weather Update 23 January 2022: कोल्‍ड डे के साथ हल्‍की बारिश ने बिगाड़ा मौसम, जानिए कोसी-सीमांचल और पूर्व बिहार का मौसम?

आनलाइन डेस्‍क, भागलपुर। Weather Update 23 January 2022: बिहार में मौसम का मिजाज पूरी तरह बदल गया है। रविवार को सुबह से ही पूर्व बिहार के भागलपुर और आसपास के इलाके में हल्‍की बारिश हो रही है। मौसम का ये हाल लखीसराय, जमुई, मुंगेर, खगडि़या के अलावा कोसी और सीमांचल के मधेपुरा, कटिहार, पूर्णिया, सहरसा, सुपौल, अररिया और किशनगंज में भी है। 

मौसम व‍िभाग के अनुसार आज कई जिलों में बार‍िश के आसार हैं। इस दौरान ठंड का कहर भी जारी रहेगा। हालांकि न्‍यूनतम और अधिकतम तापमान में ज्‍यादा उतार-चढ़ाव देखने को नहीं मिलेगा। इसके बाद धीरे-धीरे लोगों को ठंड से राहत मिलने लगेगी। रात्रि‍ के तापमान में दो से तीन डिग्री तक बढ़ोतरी हो सकती है। वहीं, रविवार को पूरे दिन आसमान में बादल छाए रहेंगे। इस दौरान मध्‍यम गति से हवा चलती रहेगी। 

इमरजेंसी में मरीजों की संख्या में आई कमी

जवाहरलाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल के इमरजेंसी सहित आउटडोर विभाग में मरीजों की संख्या आधाी से भी कम हो गई है। बताया जा रहा है कि ठंड की वजह से भी मरीज नहीं आ रहे हैं वहीं कोरोना संक्रमण भी वजह है। इमरजेंसी के सर्जरी, शिशु और मेडिसीन में अधिकांश बेड खाली थे। वहीं आउटडोर में महज 404 नये मरीज ही इलाज करवाने आए।

अध‍िकांश बेड पर नहीं दिखे मरीज 

शनिवार को इमरजेंसी के सर्जरी विभाग में चार, मेडिसीन विभाग में तीन और शिशु विभाग में चार मरीज ही भर्ती मिले। अधिकांश बेड खाली थे। जबकि 40 से ज्यादा बेड हैं। हालांकि इमरजेंसी में भर्ती एक मरीज कोरोना पाजेटिव मिला, जिसे एमसीएच वार्ड में भर्ती किया गया। वहीं आउटडोर में नये मात्र 404 मरीज इलाज करवाने आए। पुराने मरीजों की संख्या केवल 97 थी। अन्य दिनों में एक हजार से ज्यादा मरीज इलाज करवाने आते हैं। सबसे ज्यादा 140 मरीज मेडिसीन और सबसे कम सात मरीज टीबी एंड चेस्ट विभाग में इलाज करवाने आए।

Edited By Abhishek Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept