This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

नवगछिया में दो पशु व्यापारियों का गला रेता, एक की मौत

पोखरिया के समीप दो युवा पशु व्यापारियों का गला रेत दिया और तीन लाख रुपये लूटकर भाग निकले।

JagranTue, 12 Feb 2019 10:50 PM (IST)
नवगछिया में दो पशु व्यापारियों का गला रेता, एक की मौत

जेएनएन (भागलपुर)। नवगछिया के गोपालपुर थाना क्षेत्र में बेखौफ अपराधियों ने मंगलवार को तड़के पोखरिया के समीप दो युवा पशु व्यापारियों का गला रेत दिया और तीन लाख रुपये लूटकर भाग निकले। एक व्यापारी रंगरा ओपी क्षेत्र के सधुआ निवासी मो. निसार (20) की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि इसी गांव का दूसरा व्यापारी मो. बिंची उर्फ निसार (22) गंभीर रूप से जख्मी है। उग्र परिजन और ग्रामीणों ने अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पचगछिया गांव के पास 14 नंबर रोड पर शव को रखकर यातायात बाधित कर दिया। एसपी निधि रानी के आश्वासन पर तीन घंटे बाद जाम हटाया गया।

-----

चार लोगों ने मिलकर रेता गला

मो. निसार की पत्नी तम्मना खातून ने पुलिस को बताया कि सुबह तीन बजे पति के मोबाइल पर फोन आया कि पोखरिया गांव में दो भैंस बिक्री है। आकर खरीद लीजिए। निसार और बिंची एक साथ ही पशु की खरीद-बिक्री करते थे। सूचना पर दोनों सुबह पांच बजे बाइक से पोखरिया गांव के लिए निकल गए। वहा पहुंचने पर एक युवक दोनों को केला खेत के अंदर ले गया। अंदर तीन लोग पहले से मौजूद थे। सभी ने मिलकर निसार और बिंची को कब्जे में ले लिया। तीन लाख रुपये और मोबाइल लूटने के बाद दोनों का गला रेत दिया। उसी वक्त ग्रामीण कुछ महिलाएं पशु चारा लेने आई थीं, जिनके चिल्लाने पर अपराधी सहम गए और मो. बिंची को घायलवस्था में छोड़कर भाग गए। मंगलवार को तेतरी पकरा में पशु हाट लगता है, जहां खरीद के बाद दोनों भैस को बेचना था।

---

जख्मी बिंची ने गांववालों को दी घटना की जानकारी बिंची जख्मी हालत में ही वहां से किसी तरह भाग कर पोखरिया गांव पहुंचा। गला कटा होने की वजह से इशारों में ही ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी। ग्रामीणों ने दोनों के परिजन और पुलिस को घटना की जानकारी दी और जख्मी बिंची को इलाज के लिए अनुमंडल अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से केला खेत से मो. निसार का शव बरामद किया। जख्मी बिंची को नवगछिया से भागलपुर रेफर किया गया है।

---

एसपी और एसडीओ ने दिया अपराधियों की गिरफ्तारी का आश्वासन एसपी निधि रानी, एसडीपीओ प्रवेंद्र भारती, एसडीओ मुकेश कुमार, गोपालपुर बीडीओ ने घटनास्थल पहुंचकर उग्र परिजन और ग्रामीणों को समझाया। अपराधियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। मो. निसार के अंतिम संस्कार के लिए परिजन को सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत 20 हजार रुपये दिया। तब जाकर लोगों ने जाम तोड़ा। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडल अस्पताल भेजा।

---

डीआइजी ने गठित की एसआइटी भागलपुर प्रक्षेत्र के डीआइजी विकास वैभव नवगछिया पहुंचे और एसपी निधि रानी से पूरी घटना की जानकारी ली। डीआइजी ने बताया कि मवेशी व्यवसायी हत्याकांड का भंडाफोड़ करने के लिए एसआइटी का गठन किया गया है। एसआइटी में एसपी निधि रानी, एसडीपीओ प्रवेंद्र भारती, डीएसपी मुख्यालय असरार अहमद, गोपालपुर इंस्पेक्टर श्रीकांत भारती, अनि जयंत प्रकाश को शामिल किया गया है। पुलिस बिंची व निसार के मोबाइल का कॉल डिटेल खंगाल रही है। वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए घटना स्थल पर खून से सनी मिट्टी का सैंपल लिया गया है, जिसे जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा जाएगा। घटनास्थल से गमछी, शर्ट का बटन बरामद किया गया है।

भागलपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!