This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

सेवानिवृत अधिकारी व व्यवसायी के घर दिन में ही डकैती कर अपराधियों ने पुलिस को दी खुली चुनौती

इशाकचक के फीताबाड़ी में दिन दहाड़े अपराधियों ने डकैती की घटना को अंजाम दिया है। व़हीं बाराहाट बाजार में दिनदहाड़े हथियारबंद अपराधियों ने व्यवसायी के घर में लूटपाट का प्रयास किया।

Dilip ShuklaFri, 05 Apr 2019 04:55 PM (IST)
सेवानिवृत अधिकारी व व्यवसायी के घर दिन में ही डकैती कर अपराधियों ने पुलिस को दी खुली चुनौती

भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर जिले में अपराध काफी बढ़ गया है। चुनावी मौसम में आपराधिक गतिविधियां काफी तेज हो गईं है। पहले से लूट, डाका, छिनतई, बाइक चोरी, शराब कारोबार आदि से लोग परेशान है। लेकिन अपराधियों ने अब दिन में ही डाका डालकर पुलिस को चुनौती दे दी है। भागलपुर शहर और पीरपैंती प्रखंड में एक ही दिन डकैती हुई। लोग पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं।

इशाकचक इलाके के बरहपुरा, फीताबाड़ी में दिन दहाड़े अपराधियों ने डकैती की घटना को अंजाम दिया है। अपराधियों ने भागलपुर कृषि विभाग से सेवानिवृत हुए उप निदेशक अब्दुल मजीद को गन प्वाइंट पर रखकर उनके घर में डकैती की है। जिसमें लाखों के जेवर और नकदी पर अपराधियों ने लूट लिया। पांच की संख्या में नकाबपोश हथियार बंद अपराधी इस घटना में शामिल थे।

इसकी सूचना मजीद ने घटना के करीब एक घंटे बाद इशाकचक थाने को दी। उन्होंने लिखित शिकायत थाने में भेजा। अपराधियों द्वारा मोबाइल भी लूट लिए जाने के कारण वे लोग सूचना पुलिस को नहीं दे सके। मामले की जानकारी मिलते ही सिटी डीएसपी राजवंश सिंह, इशाकचक इंस्पेक्टर संजय कुमार सुधांशू और मोजाहिदपुर इंस्पेक्टर राम एकबाल यादव जांच के लिए पहुंचे थे।

कनपटी पर सटा दी थी कॉक कर पिस्टल

अब्दुल मजीद ने बताया कि जिस समय अपराधियों ने उनके घर में प्रवेश किया। उस समय वे और घर में काम करने वाली बीबी किश्वरी ही थे। वे खुद नमाज पढ़ रहे थे। जबकि काम वाली घरेलू काम निपटा रही थी। पहले दो अपराधी घर में घुसे और अंदर आते ही उन्हें हथियार के बल पर अपने कब्जे में ले लिया। उनकी कनपटी पर पिस्टल कॉक कर लगा दिया और गोली मारने की धमकी दी। इसके बाद तीन और लड़के अंदर पहुंच गए। सभी के चेहरे पर नकाब लगा हुआ था। उन लोगों ने उनके हाथ एक गमछे से बांध दिया। वहीं नौकरानी को भी अपने कब्जे में ले लिया।

20 मिनट तक घर में रहे अपराधी

अपराधियों ने तीन कमरों में रखे सारे सामान को खंगाल दिया। दो अलमारी खोलकर उनकी बहु, बेटे के करीब पांच लाख का जेवरात, नकदी 20 हजार रुपये और मोबाइल लूट लिया। अपराधी करीब 20 मिनट तक घर में रहे। इसी बीच उनके दूध वाले ने भी घर का दरवाजा खटखटाया। कई बार दरवाजा नॉक करने पर अपराधी डरकर इधर उधर छिप गए। लेकिन उसमें से एक अपराधी ने उन लोगों पर हथियार ताने रखा। इस कारण वे लोग हल्ला नहीं कर सके। कुछ देर बाद दूध वाला भी निकल गया। इसके तुरंत बाद पांच अपराधी सामान को कपड़े और बैग में लेकर वहां से निकल गए।

जांच के लिए मंगाया गया डॉग स्कवायड

जब सिटी डीएसपी जांच के लिए पहुंचे तो वहां डिप्टी डाइरेक्टर को जिस गमछे से बांधा गया था। वह अपराधियों का था। इस कारण उन्होंने एसएसपी आशीष भारती के निर्देश पर डॉग स्कवाइड को जांच के लिए बुलाया। डॉग गमछे को सूंघकर अपराधियों को ढूंढते हुए झाडिय़ां होते हुए एक बगीचे में पहुंचा। जहां तीन चार चक्कर के बाद वह बैठ गया। पुलिस को आशंका है कि उस बगीचे से ही कुछ अपराधी भागे हैं।

इशीपुर बाराहाट में दिनदहाड़े व्यवसायी के घर में घुसे बदमाश

पीरपैंती प्रखंड के इशीपुर बाराहाट बाजार में दिनदहाड़े हथियारबंद अपराधियों ने व्यवसायी शंभू चनानी के घर में घुसकर लूटपाट का प्रयास किया। लेकिन बच्चों के शोर मचाने पर आसपास के लोग जुट गए और दो बदमाशों को दौड़ाकर पकड़ लिया गया जबकि अन्य भाग गए।

व्यवसायी के परिजन ने बताया कि छह अपराधी घर के अंदर थे और दो अपराधी बाहर नजर रख रहे थे। घटना के वक्त घर में पुरुष सदस्य नहीं थे। घर में प्रवेश करते ही सभी अपराधियों पिस्तौल तान दी। अपराधियों को देखते ही महिलाए चिल्लाने लगीं। वृद्ध महिला साबरी देवी द्वारा विरोध करने पर बदमाशों ने उन्हें धक्का दे दिया जिससे वह गिर कर चोटिल हो गईं। जबकि चंपा देवी मोबाइल से फोन करने का प्रयास कर रही थी कि उसके हाथ से अपराधी मोबाइल छीनने लगे। हालांकि उन्होंने अपना मोबाइल नहीं दिया। तबतक घर में रखे राधा देवी एवं रानी देवी के मोबाइल अपराधियों ने ले लिए। महिला राधा चनानी को कट्टा दिखा किचन में खड़ा कर चुप चाप खड़ी रहने को कहा।

इस बीच घर के बच्चे रिया, रक्षित, सौम्या, मन्या और रानी चनानी अपराधियों को देख एक कमरे में स्वयं बंद कर लिया और खिड़की से सड़क की ओर चिल्लाने लगे। बच्चों की आवाज सुनकर लोग बाहर से जुट ही रहे थे। अपराधी भागने लगे। अपराधियों के भागते ही लोगों ने इशीपुर थाना और क्षेत्र के लोगों को सूचना दी।

इसी बीच ग्रामीणों ने अपराधियों का पीछा किया तो उन्होंने दो बार फायरिंग भी कर दी। लेकिन ग्रामीणों ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए महेशपुर के समीप एक अपराधी को पकड़ लिया जबकि दूसरे अपराधी बदलूगंज नयानगर के समीप पकड़ा गया। दोनों के पास से पुलिस ने लोडेड पिस्तौल बरामद की है। एक अपराधी को ग्रामीणों ने जमकर पिटाई भी कर दी। पुलिस ने रेफरल अस्पताल पीरपैंती में उसका उपचार कराया। अपराधी आठ की संख्या में थे। सभी अपराधी बाइक पर सवार थे। पकड़े गए अपराधियों ने पुलिस के सामने कई अहम राज खोले हैं। गिरफ्तार अपराधी अमरपुर बांका इंग्लिश मोड़ का रहने वाला अभिषेक मंडल और सजौर का राजीव यादव उर्फ राजू यादव हैं। हालांकि पुलिस नाम का सत्यपन कर रही है।

पूर्व में हुई डकैती की घटनाएं

तीन मार्च 2019 : सबौर के बाबूपुर मोड़ के पास डॉक्टर शैलेश कुमार के घर डकैती

नौ फरवरी 2018 : इशाचक के भीखनपुर में सीओ नवीन भूषण के घर शाम में डकैती

नौ मार्च 2018 : इशाकचक के आनंदबाग कॉलोनी में नेवी अधिकारी दिवाकर झा के घर डकैती

तीन दिसंबर 2018 : बबरगंज के अलीगंज में डॉक्टर रवीश कुमार के घर रात में डकैती

18 दिसंबर 2018 : बबरगंज इलाके के हसनगंज में सेवानिवृत शिक्षक महेंद्र प्रसाद मंडल के घर डकैती

17 अगस्त 2017 : तिलकामांझी अपराधियों ने दिनदहाड़े सेल्स टैक्स अधिकारी रीता सिंह के घर की थी डकैती

भागलपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!