तारापुर उपचुनाव : अंतिम दौर में चुनाव प्रचार, आशीर्वाद सभी को, वोट खास को, कई दिग्गजों की जुड़ी है प्रतिष्ठा

तारापुर उपचुनाव अंतिम दौर में पहुंचा चुनाव का प्रचार-प्रसार प्रत्याशियों को हर दरवाजे तक दस्तक देने की चुनौती। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तेजस्वी यादव सोनिया के चेहरे पर लड़ा जा रहा विधानसभा उप चुनाव। प्रत्याशियों के लिए दस्तक देने की चुनौती है। चुनाव प्रचार का अंति‍म चरण में है।

Dilip Kumar ShuklaPublish: Sun, 24 Oct 2021 12:50 PM (IST)Updated: Sun, 24 Oct 2021 12:50 PM (IST)
तारापुर उपचुनाव : अंतिम दौर में चुनाव प्रचार, आशीर्वाद सभी को, वोट खास को, कई दिग्गजों की जुड़ी है प्रतिष्ठा

मुंगेर [रजनीश]। तारापुर में चुनाव प्रक्रियाएं अंतिम दौर की ओर बढऩे लगी हैं। मतदान की तिथि नजदीक है। तारापुर विधानसभा उप चुनाव का प्रचार जोर पकड़ चुका है। ऐसे में यहां प्रत्याशियों के लिए हर दरवाजे पर दस्तक देने की चुनौती है। प्रत्याशी भी इसे समझ रहे हैं कि भले ही यह चुनाव नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव, कांग्रेस की राष्ट्रय अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के चेहरे पर लड़ा जा रहा है, लेकिन मतदाता देखना चाहते हैं कि उसका विधायक प्रत्याशी मतदाता के प्रति कितना संजीदा है। वह कितना कर्मठ है। समय अनुसार सभी दल के प्रत्याशी मतदताओं के पास पहुंच रहे हैं। वोटर भी आशीर्वाद दे रहे हैं। बुजुर्ग वोटरों के पास प्रत्याशी पैर छूकर हाथ जोड़ा और कमर को झुकाकर जीत का आशीष मांग रहे हैं, प्रत्याशी बुजुर्ग वोटरों से चचा, चाची अबकी तोहरे आशीर्वाद के जरूरत छै...जैसी बातों से अपने पक्ष में वोट मांग रहे हैं। जो प्रत्याशी वोट मांगने पहुंच रहे हैं वह आशीर्वाद पाकर खुश हैं। बुजुर्ग वोटर भी उम्मीदवार के माथे पर रख रहे हैं। एक बुजुर्ग वोटर ने कहा कि सभी को मन से आशीर्वाद दे रहे हैं पर वोट तो एक ही को देंगे।

सीट बरकरार और विरासत पाने का संघर्ष

तारापुर सीट हाट सीट बना हुआ है। जदयू ने यहां 2005 के उम्मीदवार राजीव कुमार ङ्क्षसह को उतारा है, जबकि राजद, कांग्रेस और लोजपा ने नए चेहरे को मौका दिया है। लोजपा को छोड़कर तीन दलों के प्रत्याशी तारापुर विधानसभा क्षेत्र के ही हैं। स्थानीय होने के कारण समाज के लोग सभी से भलीभांति परिचित हैं। क्षेत्र में स्टार प्रचारकों का दौरा शुरू हो चुका है। कुल मिलाकर, जदयू अपनी सीट बरकार रखने और राजद और कांग्रेस पुरानी विरासत को संयोजने की तैयारी में है। इस सीट को दुबारा अपने कब्जे में पाने के लिए ताकत झोंक दी है। सभी के समर्थक समर्थक वोटों के बिखराव और अपने बेस वोटरों की ताकत से अपने पक्ष में जीत का समीकरण देख रहे हैं। लोजपा अपने प्रत्याशी के व्यक्तित्व, कार्य और युवाओं के बल पर उत्साहित है।

दिग्गजों के प्रतिष्ठा का है सवाल

एनडीए उम्मीदवारों के लिए स्वयं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तीन सभाएं करेंगे। वैश्य बाहुल इलाके में पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने रोड शो किया। यहां बिंंद समुदाय की आबादी ठीक-ठाक है। मुकेश सहनी ऐसे में सभी नेता वोटरों को अपने पक्ष में करने की रणनीति तैयार की। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष, केंद्रीय मंत्री और सहित सरकार के कई मंत्री, सांसद, विधायक और एमएलसी, प्रवक्ता, पूर्व विधायक जसै कई नेता यहां कैंप किए हैं। लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान एक दिन सभा और रोड शो कर चुके हैं। कांग्रेस प्रत्याशी राजेश मिश्रा के पक्ष में राज्य सभा सदस्य डा. अखिलेश प्रसाद स‍िंंह दो दिनों तक प्रचार चुके हैं। कांग्रेस प्रत्याशी के लिए पहली बार कन्हैया कुमार तारापुर के चुनावी मैदान में उतरे और प्रत्याशी के पक्ष में वोटरों को गोलबंद किया।

Edited By Dilip Kumar Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept