बीएयू करेगा एमओयू, पहले की तरह अब कोल्हू से निकलेगा शुद्घ तेल Bhagalpur News

इस कोल्हू मशीन की कीमत दो लाख है। इससे दो हजार लीटर प्रति दिन तेल निकाला जा सकता है। तेल गुणवत्ता पूर्ण और देसी स्वाद युक्त होगा।

Dilip ShuklaPublish: Mon, 24 Feb 2020 12:00 PM (IST)Updated: Mon, 24 Feb 2020 12:00 PM (IST)
बीएयू करेगा एमओयू, पहले की तरह अब कोल्हू से निकलेगा शुद्घ तेल Bhagalpur News

भागलपुर [ललन तिवारी]। मशीनी युग में खाद्य सामग्री की शुद्धता को लेकर अक्सर सवाल उठते रहे हैं। इससे निपटने के लिए पुणे की संस्था ऑर्गेनिकसत्वा ने कोल्हू की नई तकनीक ईजाद की है। इसमें लकड़ी सहित सब कुछ पुरानी विधि से लगी है। अंतर बस इतना है कि यह बैल की जगह मशीन से चलाया जाता है। किसान मेले में इसका प्रदर्शन किया गया।

संस्था की संचालिका लिली का कहना है कि इस कोल्हू मशीन की कीमत दो लाख है। इससे दो हजार लीटर प्रति दिन तेल निकाला जा सकता है। तेल गुणवत्ता पूर्ण और देसी स्वाद युक्त होगा। बिहार में इसकी अपार संभावना है। ऐसे पूरे देश में युवा किसानों को उद्यमी बनाने के लिए काम किया जा रहा है।

संस्था की ओर से किसानों को बताया जा रहा है कि पूरी यूनिट तकरीबन दस लाख की होगी। प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना से अनुदानित ऋण मिलेगा। इसमें संस्था सहयोग करेगी। यूनिट में माल तैयारी से लेकर बोतल पैकेजिंग और मार्केटिंग सब कुछ संस्था करेगी। बीएयू के प्रसार शिक्षा निदेशक डॉ. आरके सोहाने ने बताया कि कोल्हू वाली तकनीक के प्रति लोग उत्सुक दिख रहे हैं। इसके साथ बीएयू करार भी करेगा। ताकि बिहार के किसानों को भी उद्यमी बनाया जा सके।

तेल निकालने की यूनिट गांव-गांव लग सकती है। विश्वविद्यालय अपने माध्यम से बिहार के किसानों को इसकी जानकारी देगा। इससे युवा किसान उद्यम कर समृद्ध बन सकेंगे। - डॉ. अजय कुमार सिंह कुलपति बीएयू सबौर

Edited By Dilip Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept