भारतीय रेलवे: गर्मी में सुहाना होगा ट्रेनों का सफर, विक्रमशिला एक्सप्रेस समेत इन ट्रेनों में बढ़ाई जा रही एसी की सुविधा

Indian Railways सूरत एक्सप्रेस विक्रमशिला एक्सप्रेस अजमेरशरीफ एक्सप्रेस व फरक्का एक्सप्रेस समेत लगभग एक दर्जन ट्रेनों में एसी की सुविधा बढ़ाई जाएगी। 15 मई से चार जुलाई तक सभी ट्रेनों में ये व्यवस्था लागू होगी। यात्रियों को गर्मी में राहत देने के लिए...

Shivam BajpaiPublish: Tue, 19 Apr 2022 10:22 PM (IST)Updated: Tue, 19 Apr 2022 10:22 PM (IST)
भारतीय रेलवे: गर्मी में सुहाना होगा ट्रेनों का सफर, विक्रमशिला एक्सप्रेस समेत इन ट्रेनों में बढ़ाई जा रही एसी की सुविधा

जागरण संवाददाता, भागलपुर : गर्मी में भी यात्रियों का ट्रेनों का सफर सुहाना होगा। उन्हें पसीना नहीं बहाना पड़ेगा इसलिए कि रेलवे ने सूरत एक्सप्रेस, विक्रमशिला एक्सप्रेस, अजमेरशरीफ एक्सप्रेस व फरक्का एक्सप्रेस सहित एक दर्जन ट्रेनों में वातानुकूलित (एसी) कोच बढ़ाने और स्लीपर व सामान्य बोगियां कम करने के साथ ही गरीब रथ सहित कई ट्रेनों में एलएचबी कोच जोड़कर चलाने का निर्णय लिया गया है। एलएचबी कोच जोडऩे से एसी सहित सभी श्रेणियों की बोगियों में सीटों की संख्या भी बढ़ेगी। हर एक बोगियों में सात से आठ सीटें बढ़ जाएगी। इससे यात्रियों को काफी सहूलियत होगा। सभी ट्रेनों में पांच मई से चार जुलाई तक नई व्यवस्था लागू होनी है।

सूरत एक्सप्रेस : भागलपुर से सूरत तक सप्ताह में दो दिन चलने वाली सूरत एक्सप्रेस (22947/22948) की जुलाई से स्लीपर व जनरल बोगियों की कटौती और एसी कोचों में बढ़ोतरी की जाएगी। भागलपुर से सोमवार व गुरुवार और सूरत से मंगलवार और शनिवार को चलने वाली इस ट्रेंन की दो स्लीपर बोगी यानी 11 की जगह नौ बोगियां और चार से घटाकर तीन बोगियां जोड़ी जाएंगी। वहीं पांच की जगह छह थ्री एसी, एक टू एसी की बढ़ाकर दो कोच कर दी गई है। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार भागलपुर से चार जुलाई और सूरत से दो तारीख से घटाई और बढ़ाई गई कोच के साथ परिचालन होगा। यात्रियों की मांग के आधार पर यह निर्णय लिया है।

फरक्का एक्सप्रेस : भागलपुर के रास्ते चलनेवाली फरक्का एक्सप्रेस को चार जुलाई से आइसीएफ की जगह इस ट्रेन को एलएचबी कोच जोड़कर चलाई जाएगी। एलएचबी कोच के जुडऩे के साथ ही इस ट्रेन की स्लीपर से लेकर वातानुकूलित (एसी) के हरेक बोगियों में सीटों की संख्या भी बढ़ जाएंगी। 22 कोच वाली इस ट्रेन की हरेक कोच में छह से आठ सीटें बढ़ेगी। हरेक स्लीपर कोच में 72 से बढ़कर 80, एसी टू कोच में 48 से 54 और एसी थ्री में 64 से बढ़कर 72 सीटें हो जाएंगी। इससे साहिबगंज-भागलपुर-जमालपुर-किऊल रेलखंड के यात्रियों को सुविधा होने के साथ ही इस ट्रेन की दुर्घटना की संभावना भी कम रहेगी।

विक्रमशिला एक्सप्रेस सहित लंबी दूरी की अधिकांश ट्रेनों में एलएचबी रैक है। 13413 अप मालदा-दिल्ली फरक्का एक्सप्रेस में आगामी चार जुलाई से, 13414 डाउन दिल्ली-मालदा फरक्का एक्सप्रेस में छह जुलाई से, 13483 अप मालदा-दिल्ली फरक्का एक्सप्रेस में पांच तारीख और 13484 दिल्ली-मालदा फरक्का एक्सप्रेस को सात जुलाई से एलएचबी कोच जोड़कर चलाई जाएगी। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार निर्धारित तिथि से पहले मुख्यालय से एलएचबी रैक उपलब्ध कराने की उम्मीद है। 

विक्रमशिला, दादर और अजमेरशरीफ एक्सप्रेस : विक्रमशिला सहित कई एक्सप्रेस ट्रेनों में एसी कोच बढ़ेगी और स्लीपर कोच घटेगी। स्लीपर कोच की जगह एसी थ्री कोच जोड़ा जाएगा। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार यात्रियों की सुविधा और मांगों को ध्यान में रखते हुए भागलपुर की विक्रमशिला एक्सप्रेस, दादर एक्सप्रेस और अजमेर शरीफ एक्सप्रेस सहित पूर्व रेलवे के एक दर्जन से अधिक ट्रेनों में स्लीपर कोच की जगह थ्री एसी कोच जोड़ा जाएगा। 15 मई से प्रभावी होने वाली नई व्यवस्था के तहत विक्रमशिला एक्सप्रेस में स्लीपर की जगह एक जनरल बोगी भी जुड़ेगी। पूर्व रेलवे के सीएफटी केएन चंद्रा ने इस संबंध में अधिसूचना भी जारी कर दिया है।

जारी अधिसूचना के अनुसार विक्रमशिला एक्सप्रेस (12367/12368) की दो स्लीपर कोच हटाकर एक थ्री एसी व एक जनरल कोच जोड़ा जाना है। इस ट्रेन में भागलपुर से 15 मई और आनंद विहार टर्मिनल से 16 तारीख से नई व्यवस्था लागू होगी। सप्ताह में तीन दिन चलने वाली भागलपुर-दादर एक्सप्रेस (12335/12336) की दो स्लीपर बोगी हटाकर दो थ्री एसी कोच जोड़ा जाएगा। यह नई व्यवस्था भागलपुर से 15 मई और दादर स्टेशन से 17 तारीख से प्रभावी होगी। अजमेरशरीफ साप्ताहिक एक्सप्रेस (13423/13424) में भागलपुर से 19 मई और अजमेर से 21 तारीख से दो स्लीपर बोगी हटाकर इस ट्रेन में दो थ्री एसी जोड़कर चलाई जाएगी। इस संबंध में सीएफटी की ओर से मालदा मंडल रेल प्रबंधक और डीसीएम सहित मालदा मंडल के सभी अधिकारियों को विधिवत सूचना भी दे दी गई है।

गरीब रथ एक्सप्रेस : आनंद विहार टर्मिनल और भागलपुर के बीच चलने वाली गरीब रथ एक्सप्रेस के कोच बदले जाएंगे। इस योजना के तहत गरीब रथ के कोचों को सामान्य इकोनामी थ्री टियर एसी कोच के रूप को बदला जा सकता है। इस ट्रेन को चलाने की पीछे का उद्देश्य था कि मध्यम एवं गरीब वर्ग भी एसी ट्रेन में यात्रा का आनंद उठा सके, लेकिन अब रेलवे की योजना इस ट्रेन में इकनामी थ्री टीयर एसी के कोच लगाए जाएंगे। इस कोच के लगने से सफर के दौरान यात्रियों को झटके कम लगने के साथ ही किसी दुर्घटना की स्थिति में जान माल का नुकसान भी कम होगा पर साइड बर्थ की लंबाई-चौड़ाई में बदलाव नहीं होगा।

बर्थ की संख्या 72 से बढ़कर 83 हो जाएगी। वहीं यात्रियों को सोने में किसी तरह की परेशानी का सामना भी नहीं करना पड़ेगा। अभी 20 कोच की रैक के साथ गरीब रथ चल रही है। यही नहीं इस ट्रेंन में बदलाव हुआ तो एसी थ्री टीयर कोच में यात्रियों की सुविधा बढ़ जाएगी। पर्सनल लाइट, एसी वेंट्स, मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट, वरइ प्वाइंट और ऊपर चढऩे के अच्छी और बेहतर सीढ़ी मिलेगी। बेहतर सुविधा के साथ रेलवे के राजस्व में भी वृद्धि होगी।

Edited By Shivam Bajpai

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept