This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

भागलपुर में बढ़ा अपराध : एक ही दिन में एक दुकान और दो घरों में हुई डकैती, लोग दहशत में

भागलपुर में चोरी और डकैती की घटनाओं में काफी वृद्धि हो गई है। रोज अपराध हो रहे हैं। पुलिस भी सुस्त पड़ी है। लोग खौफ में हैं। यहां तक के अपराधी ग्राहक बनकर दुकान को लूट लेते हैं।

Dilip ShuklaTue, 18 Dec 2018 10:22 PM (IST)
भागलपुर में बढ़ा अपराध : एक ही दिन में एक दुकान और दो घरों में हुई डकैती, लोग दहशत में

भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर में लगातार अपराध बढ़ता जा रहा है। इधर, प्रतिदिन चोरी और डकैती की घटना हो रही है। इससे पहले बाइक चोरी की घटनाओं में वृद्धि हो गई थी। बढ़ रहे अपराध से लोग दहशत में हैं। पुलिस भी प्राथमिकी दर्ज कर चुप हो जाती है।

बबरगंज के हसनगंज मुहल्ले में जगलाल हाई स्कूल, असानंदपुर से सेवानिवृत प्रभारी प्राचार्य महेश प्रसाद मंडल के घर आधा दर्जन हथियार बंद अपराधियों ने सोमवार की शाम डकैती की घटना को अंजाम दिया। अपराधियों ने प्राचार्य और उनके परिवार वालों को गन प्वाइंट पर रखकर घर से करीब 10 लाख के जेवरात और नकद 60 हजार रुपये लूट लिया है। घटना की जानकारी होने पर सिटी डीएसपी राजवंश सिंह समेत मोजाहिदपुर इंस्पेक्टर अमर विश्वास और बबरगंज चौकी प्रभारी राजेश कुमार रंजन मौके जांच के लिए पहुंचे। महेश के बयान पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है।

रेकी कर दिया घटना को अंजाम
अपराधियों ने रेकी करने के बाद घटना को अंजाम दिया है। जिस समय महेश प्रसाद मंडल का बेटा राहुल और बहु पास के ही मंदिर के लिए निकले। उसी समय आधा दर्जन की संख्या में अपराधी घर में प्रवेश कर गए। कुछ अपराधी मुख्य द्वार पर रहे, जबकि तीन अंदर प्रवेश कर गए। सभी ने अपने मुंह पर नकाब लगा रखा था। अंदर घुसते ही उन लोगों ने वहां मौजूद महेश के साढ़ू योगेंद्र प्रसाद को हथियार के बल पर अपने कब्जे में ले लिया। वहीं विरोध करने पर उसके साथ मारपीट भी की। उस समय महेश बाथरूम गए हुए थे। बाहर निकलते ही उसे भी अपराधियों ने उन पर हथियार तान दिया। इस कारण वे विरोध नहीं कर पाए।

भागलपुर में चोरी

बेटा और बहु हैं कार्यपालक अभियंता
इसके बाद सभी अपराधी उसके बेटे के कमरे में घुस गए और अलमीरा और कमरे को खंगालते हुए सारे जेवरात और नकदी लूट लिया। महेश का बड़ा बेटा राकेश रंजन और बहु बंगाल में कार्यपालक अभियंता है। वहीं उनकी पत्नी अरुणा देवी सरयू देवी बालिका उच्च विद्यालय, मिरजानहाट से प्रभारी प्राचार्य के पद से सेवानिवृत हुई है। मंगलवार को वो गोड्डा में थी। जानकारी होते ही वह वहां से भागलपुर के लिए निकल गई। घर से अपराधियों महेश के दोनों बेटों, बहु और पत्नी के सारे जेवरात लूटा है।

बेटे को घर में लगे वेब कैमरा से मिली डकैती की जानकारी
जिस समय महेश का बेटा मंदिर में था। उसी वक्त घर में लगे वेब कैमरा से उसके मोबाइल पर जानकारी मिली की घर में कुछ लोग घुस आए हैं। यह देखते ही उसने तत्काल मामले की जानकारी अपने रिश्तेदार एससी, एसटी थानेदार अजय कुमार को दी। उन्होंने इसकी जानकारी बबरगंज और मोजाहिदपुर पुलिस को दी। वहीं घर में रखे जिस मोबाइल से कैमरा काम कर रहा था। उस पर डकैतों की नजर पड़ी और उसने वह मोबाइल ले लिया। इसके बाद आनफानन में डकैत वहां से भाग निकले।

घटना के समय घर में ट्यूशन पढ़ रहा था नाती
जिस समय घटना घटी उस समय महेश का नाती तेजस्वी एक कमरे में अपने शिक्षक बृज मोहन से ट्रयूशन पढ़ रहा था। तेजस्वी जब हल्ला गुल्ला सुनकर बाहर आया तो अपराधियों ने उसे भी हथियार दिखा दिया तब वह अंदर चला गया। उसने बृज़ मोहन के फोन से अपने रिश्तेदारों को जानकारी देनी चाही। लेकिन डकैतों ने उसका मोबाइल छिन लिया। लेकिन जाते समय अपराधियों ने वह मोबाइल घर में ही फेंक दिया। लेकिन कैमरा को ऑपरेट करने वाला मोबाइल वह साथ ले गए।

कैमरे में कैद हुए हैं डकैत
पुलिस को वेब कैमरे से अपराधियों का सुराग हाथ लगा है। पुलिस को इस मामले में इलाकाई दो अपराधियों पर शक है। जो हाल ही में जमानत पर छूट कर बाहर निकला है। इसमें एक तीन पुलिया का रहने वाला है। फुटेज के आधार पर पुलिस ने अपराधियों को लेकर छापेमारी शुरू कर दी है। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी असानी से घर से बाहर निकल गए।

किसी करीबी का है डकैती में हाथ
डकैती की घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों द्वारा जिस सफाई से घटना को अंजाम दिया गया है। इससे यह प्रबल आशंका है कि इसमें महेश के किसी करीबी का भी हाथ है। अपराधियों ने उसी कमरे को टारगेट किया, जहां सारे जेवरात और नकदी थी। अन्य कमरों को अपराधियों ने नहीं खंगला। अपराधियों ने 20 मिनट के अंदर घटना को अंजाम दिया है।
 

दिन दहाड़े दुकान में हुई चोरी 
बबरगंज के कुतुबगंज, मिरजानहाट में वैष्णों कॉस्मेटिक स्टोर में सोमवार को दिन दहाड़े हथियार बंद चोर ने साबुन लेने के बहाने दुकान के गल्ले से करीब 15 हजार नकदी उड़ लिया। जिस समय चोर ने घटना को अंजाम दिया था, उस समय दुकान पर दुकान संचालक माला साह और उनकी बेटी श्वेता साहा थी। चोरी की वारदात दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। इसकी जानकारी सिटी डीएसपी राजवंश सिंह को हुई। उन्होंने बबरगंज चौकी प्रभारी राजेश कुमार रंजन को प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया।

सिंथोल साबुन लेने गया था दुकान

श्वेता साहा ने बताया कि एक युवक दोपहर को सिंथोल साबुन लेने आया। उसने साबुन लेकर उसे दे दिया। लेकिन वह साबुन लेने में आनाकानी करते हुए दुकान से बाहर निकल गया। श्वेता नृत्य का क्लॉस चलाती है। युवक के निकलते ही वह कुछ कुछ काम से क्लॉस से चली गई। उसी समय युवक दोबारा दुकान के अंदर आया और उसने गल्ले में रखे करीब 15 हजार रुपये से ज्यादा नकद निकाल लिया। इसके बाद वह इधर उधर देखते हुए बाहर निकल गया। जिस युवक ने चोरी की घटना को अंजाम दिया है। उसके पॉकेट में हथियार था। जिसे वह बार बार छिपाने की कोशिश कर रहा था।

भागलपुर में चोरी

सीसीटीवी में कैद हुई घटना नहीं तो पुलिस बताती फर्जी

चोरी की पूरी वारदात दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है। इसकी शिकायत लेकर जब वे लोग पहले बबरगंज पुलिस चौकी पहुंची तो वहां शिकायत लेने से पुलिस ने इंकार कर दिया। लेकिन इसकी जानकारी परिजनों ने सिटी डीएसपी को दी। सिटी डीएसपी उस समय सेवानिवृत प्रभारी प्राचार्य महेश प्रसाद मंडल के घर डकैती की जांच के लिए पहुंचे थे। वहीं उन्होंने चौकी प्रभारी राजेश कुमार रंजन को प्राथमिकी का निर्देश दिया।

तुलसीनगर कॉलोनी में घर को अंदर से बंद कर लाखों की चोरी

तिलकामांझी इलाके के तुलसीनगर कॉलोनी में सोमवार की रात चोरों ने महिन्‍द्रा कंपनी के मैनेजर कुमार अभिषेक के घर से करीब पांच लाख रुपये गहने उड़ा लिए। चोरों ने घर को अंदर से बंदकर घटना को अंजाम दिया। पूर्णिया में पदास्थापित अभिषेक ने बताया कि सोमवार को सुबह वह निजी काम से पटना गए थे। रात करीब ढाइ बजे घर लौटे और मुख्य दरवाजे का ताला खोलकर अंदर गए। दूसरे दरवाजे का ताला टूटा हुआ था। गेट अंदर से बंद था। शक होने पर घर से बाहर निकल आसपास के लोगों को जगाते हुए मामले की जानकारी तिलकामांझी पुलिस को दी। सूचना मिलने पर चौकी प्रभारी संजय सत्यार्थी ने गश्ती दल को तुलसीनगर भेजा। वहां अभिषेक और पुलिस चौकी के ड्राइवर ने घर के पिछले रास्ते से अंदर प्रवेश किया तो छत का गेट खुला हुआ मिला। घर के अंदर दो कमरों में सारा सामान बिखरा हुआ था। बेडरूम में मौजूद अलमारी को तोड़कर चोरों ने पांच लाख के गहनों पर हाथ साफ कर दिया था। एक और अलमारी को तोडऩे का प्रयास किया। मकान केएन मिश्रा का है। छह हजार किराया देकर कुमार अभिषेक पत्नी के साथ वहां रहते हैं। कुछ दिनों से उनकी पत्नी घर में नहीं थी।

भागलपुर में चोरी

अभिषेक ने कहा कि कितने की चोरी हुई यह पत्नी के आने के बाद ही पता चल पाएगा। वहीं, पुलिस को आशंका है कि रेकी कर घटना को अंजाम दिया गया है। पिछले तीन दिनों से अभिषेक पूर्णिया में थे लेकिन उनके घर में कुछ नहीं हुआ। सोमवार को घर से निकलने के बाद चोरों ने घटना को अंजाम दिया। वहीं उस इलाके में कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा है, जिससे चोरों की गतिविधियां कैद हो सके।

नेवी अधिकारी के घर डकैती मामले में आरोपित ने किया समर्पण

इशाकचक इलाके के आनंदबाग कॉलोनी में नेवी के अधिकारी दिवाकर झा के नौ मार्च को डकैती मामले में कुख्यात अपराधी हीरू मियां के बहनोई झोपड़पट्टीमें रहने वाले मु. कासिम ने सोमवार को न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया है। गौरतलब है कि सात की संख्या में हथियारबंद अपराधियों ने दिवाकर केपिता महेंद्र प्रसाद झा, भांजी अनिता व अंशु के साथ मारपीट करते हुए मां जनता देवी के गले से सोने का चेन, कान बाली और घर में गद्दे के नीचे रखे 25 हजार नकदी लूट लिया था। अपराधियों ने विरोध करने पर दिवाकर के भांजे राजीव पर गोली भी चला दी थी।जिन छात्रों को सदस्य बनाने के लिए संगठन ने कैंप लगाया, उन्हीं के बीच इसकी विश्वसनीयता पर सवाल उछने के बाद छात्र नेताओं ने भी एक-दूसरे पर गलत होने का आरोप लगाकर गुटबाजी पर मुहर लगा दी। एक बैनर पर कांग्रेस अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष के साथ विवि संयोजक बमबम प्रीत की तस्वीर लगी थी जबकि थोड़ी ही दूरी पर कांग्रेस अध्यक्ष के साथ एआइसीसी सदस्य प्रवीण सिंह कुशवाहा की फोटो लगी थी। इस बारे में बमबम प्रीत ने बताया कि शिविर छात्र विंग ने लगाया है।

भागलपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!