This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

तीर्थ यात्रियों के खुशखबरी... कन्याकुमारी समेत इन धार्मिक स्थलों का आस्था भारत ट्रेन से कर सकते हैं दर्शन, इस तरह बुक करें टिकट

आस्था भारत ट्रेन एक साल बाद फिर से चलने जा रही है। इससे पूर्व बिहार के लोग तिरुपति मदुरै रामेश्वरम कन्याकुमारी पद्मानाभस्वामी मंदिर का दर्शन आसानी से कर सकेंगे। 10 रात और 11 दिन के इस सफर में एक यात्री पर महज 10395 रुपये खर्च उठाना होगा।

Abhishek KumarWed, 13 Jan 2021 05:34 PM (IST)
तीर्थ यात्रियों के खुशखबरी... कन्याकुमारी समेत इन धार्मिक स्थलों का आस्था भारत ट्रेन से कर सकते हैं दर्शन, इस तरह बुक करें टिकट

 जागरण संवाददाता, भागलपुर। कोरोना की वजह से तीर्थ स्थलों का दर्शन करने से वंचित रहे पूर्व बिहार के लोगों के लिए फिर से आस्था भारत दर्शन ट्रेन चलाई जा रही है। श्रद्धालुओं की मांग पर इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (आइआसीटीसी) की ओर से 31 मार्च को आस्था सॢकट भारत दर्शन ट्रेन का परिचालन होगा। श्रद्धालु दक्षिण भारत के तीर्थ स्थलों का भ्रमण कराएगा। श्रद्धालु तिरुपति, मदुरै, रामेश्वरम, कन्याकुमारी, पद्मानाभस्वामी मंदिर का दर्शन कर सकेंगे। 10 रात और 11 दिन के इस सफर में एक यात्री पर महज 10395 रुपये खर्च उठाना होगा। इसमें चाय, नाश्ता, दोपहर और रात का भोजन सहित ठहरने और घूमने के लिए बस की खर्च समाहित रहेगा। ट्रेन में 12 स्लीपर क्लास कोच होंगे। टिकट शुल्क में ही यात्रियों को चार लाख रुपये का दुर्घटना इंश्योरेंस भी रहेगा।

दरअसल, लॉकडाउन के कारण भारत दर्शन (आस्था सॢकट) ट्रेन का परिचालन नहीं हो रहा था। अब कोरोना का मामला कम होने पर फिर से परिचालन शुरू कराने की कवायद शुरू की गई है। आइआरसीटीसी ने पूर्व बिहार लोगों को भी जोड?े की कोशिश की। आइआरसीटीसी के उप महाप्रबंधक (पयर्टन)राजेंद्र बोरबन ने बताया कि श्रद्धालुओं के हर सुविधाओं का ध्यान रखा जाएगा। कोविड नियमों का पालन होगा। कोच, शौचालय से लेकर सामानों को सैनिटाइज किया जाएगा। सैनिटाइज, मास्क और फेस शिल्ड भी श्रद्धालुओं को दिए जाएंगे। वरीय पर्यवेक्षक मनीष कुमार और दीपांकर मन्ना ने बताया कि पहले चलाई गई आस्था सॢकट ट्रेनों की सफलता के बाद दक्षिण भारत दर्शन चलाने का निर्णय लिया गया है।

31 की सुबह होगी भागलपुर से रवाना

भारत दर्शन ट्रेन 31 मार्च को सुबह सात बजे मुंगेर स्टेशन से चलेगी। यहां से खुलने के बाद सुल्तानंगज पर रुकने के बाद सीधा 8.15 बजे भागलपुर पहुंचेगी। 10 मिनट के बाद यहां से ट्रेन खुलेगी। हंसडीहा-दुमका-देवघर-जसीडीह-चितरंजन ल-आसनसोल-आद्रा-बांकुरा-मेदनीपुर-बालासोर-कटक और भुवनेश्वर में ही रूकेगी।

तिरुपति बाला जी का दर्शन पहले, अंतिम पड़ाव पद्मानाभस्वामी मंदिर

दो मार्च को ट्रेन पहले रेणुंगटा जंक्शन पर रुकेगी। यहां रात्रि विश्राम के बाद सुबह में तिरुपति बालाजी का दर्शन होगा। रात्रि विश्राम त्रिवेंद्रम में होगा। जहां यात्री पद्मानाभस्वामी मंदिर में पूजा करेंगे। इसके बाद रामेश्वरम जाएंगे। मदुरै मेंमाता मीनाक्षी का दर्शन करने के बाद रात्रि विश्राम करेंगे। फिर कन्याकुमारी का दर्शन करेंगे। आठ मार्च को ट्रेन की वापसी होगी। 10 मार्च की शाम आस्था सॢकट 12.30 बजे भागलपुर आएगी, 10 मिनट बाद मुंगेर के लिए खुलेगी। मुंगेर 2.30 बजे पहुंचेगी।

हर कोच में सुरक्षा, सैनिटाइजेशन की व्यवस्था

सभी 12 स्लीपर कोच में एक सुरक्षा गार्ड और यात्रियों के लिए आरओ का ठंडा पानी की व्यवस्था होगी। कोरोना को लेकर हर कोच का एक कंपार्टमेंट खाली रखा जाएगा। ट्रेन में 20 लोगों का ग्रुप टिकट बनवाने पर छह फीसद की छूट मिलेगी। किसी कारण वश को कोई यात्रा रद करते हैं तो उन्हेंं पूरा रिफंड मिलेगा। सभी तीर्थ यात्रियों को नाश्ता, दोपहर और रात का भोजन मीनू के अनुसार शाकहारी मिलेगा।

आज से फूड प्लाजा में होगी बुकिंग

इसकी बुकिंग आइआरसीटीसी वेबसाइट पर क्रेडिट कार्ड से होगी। इसके अलावा आज से जंक्शन स्थित फूड प्लाजा से भी बुकिंग करा सकते हैं। बुकिंग चेक और नकदी से होगा, यात्रियों को पहचान पत्र रखना अनिवार्य है। किसी भी सहायता के लिए 9002040108 पर संपर्क कर सकते हैं। 

भागलपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!