फर्जी टीटीई गिरोह: 4 साल तक बिना टिकट वालों से की उगाही, भागलपुर से लेकर पटना तक फैला गैंग, बेगूसराय के मास्टर माइंड विजय की तलाश जारी

फर्जी टीटीई गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। इस गिरोह का मास्टर माइंड बेगूसराय का रहने वाला बताया जा रहा है। ये गिरोह कोई एक दो महीने से नहीं बल्कि चार साल से ट्रेनों में फर्जी टीटीई बनकर यात्रियों से उगाही कर रहा था।

Shivam BajpaiPublish: Sat, 27 Nov 2021 07:24 AM (IST)Updated: Sat, 27 Nov 2021 07:24 AM (IST)
फर्जी टीटीई गिरोह: 4 साल तक बिना टिकट वालों से की उगाही, भागलपुर से लेकर पटना तक फैला गैंग, बेगूसराय के मास्टर माइंड विजय की तलाश जारी

जागरण संवाददाता, भागलपुर : ट्रेन में फर्जी टीटीई बनकर यात्रियों से उगाही करने का धंधा एक सप्ताह या एक माह से नहीं चल रहा था। इस फर्जी धंधे का संचालन चार वर्षों से हो रहा था। रेलवे प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं लगी। भागलपुर के परबती के एक लाज से पूरे सिंडिकेट का संचालन सरगना विजय कुमार करता था। विजय भी खुद को रेलवे का बड़ा पदाधिकारी बताया था। विजय यहां से भागलपुर-साहिबगंज-किऊल रेलखंड ही नहीं राज्य के कई स्टेशनों से गुजरने वाली ट्रेनों में फर्जी टीटीई बनाकर अपने सार्गिदों को भेजता था। विजय अपने गुर्गों को मालदा रेल मंडल, दक्षिण मध्य रेलवे, पूर्व मध्य रेलवे के नाम से फर्जी इएफटी (एक्सट्रा फेयर टिकट) रशीद की छपाई कर दे रखा था।

  • -भागलपुर से कई जगहों पर फर्जी टीटीई गिरोह चला रहा था विजय
  • -मुख्य सरगना की तलाश में कई जगहों पर छापेमारी
  • -जमालपुर और पटना की सीआइबी कर रही संयुक्त कार्रवाई
  • -बेगूसराय जिले के रतनपुर स्थित पैतृक घर पहुंची टीम

बिना टीटीई वाले ट्रेन में चढ़ते थे गुर्गे

जिस ट्रेन में टीटीई नहीं दिखते थे, उस ट्रेन में ही विजय के गुर्गे सवार होते थे। जनरल क्लास में ज्यादातर श्रमिक और कम पढ़े-लिखे लोग ही सवार होते थे। ऐसे में विजय केे गुर्गे इन ट्रेनों में ही सवार होकर वसूली करते थे। चार वर्षों में लगभग 40 लाख रुपये की वसूली विजय के गुर्गों ने की है। पकड़े गए फर्जी टीटीई सौरव कुमार सिंह को जेल भेजने के बाद उससे मिले इनपुट पर मुख्य सरगना विजय की गिरफ्तारी के लिए भागलपुर सहित कई जगहों पर छापेमारी की गई। लेकिन, अभी तक पकड़ से बाहर है।

आरपीएफ इंस्पेक्टर मुकेश कुमार सपेट ने बताया कि भागलपुर, जमालपुर, किऊल व दानापुर रेलखंड पर सरगना काफी हावी है। मुख्य सरगना बेगूसराय जिले के रतनपुर गांव निवासी विजय कुमार सिंह के इशारे सब काम होता था। सरगना की गिरफ्तारी के लिए भागलपुर, जमालपुर, दानापुर आरपीएफ के साथ-साथ सीआइबी टीम छापेमारी कर रही है। विजय के पैतृक गांव पर भी पुलिस की नजर है।

182 लोग बिना टिकट के पकड़़े गए, 82 हजार जुर्माने की वसूली

जागरण संवाददाता, भागलपुर : भागलपुर से किउल तक प्लेटफार्म और ट्रेनों में शुक्रवार को टिकट चेंकिग अभियान चलाया गया। इसमें 182 लोग बिना टिकट के पकड़े गए। इनसे 82 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया। यह अभियान एसीएम विपलेश कुमार के नेतृत्व में चलाया गया। टीम में सीआइटी आरएन पासवान सहित अन्य टीटीई शामिल हुए।

Edited By Shivam Bajpai

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept