This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

अररिया पंचायत चुनाव 2021 परिणाम: पिछले चुनाव में बड़ी ने छोटी बहन को हराया, इस बार छोटी बहन ने चखाया मजा

अररिया पंचायत चुनाव 2021 परिणाम फारबिसगंज प्रखंड के एक पंचायत का परिणाम इस मामले में रोचक रहा कि यहां छोटी बहन ने बड़ी बहन को मुखिया पद के लिए में पराजित कर दिया है। हालांकि इससे पहले के चुनाव में बड़ी बहन ने छोटी बहन को हरा दिया था।

Dilip Kumar ShuklaWed, 17 Nov 2021 08:25 PM (IST)
अररिया पंचायत चुनाव 2021 परिणाम: पिछले चुनाव में बड़ी ने छोटी बहन को हराया, इस बार छोटी बहन ने चखाया मजा

संवाद सूत्र, रेणुग्राम (अररिया)। सातवें चरण के अररिया के फारबिसगंज प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में चुनाव के बाद बुधवार को अररिया मार्केटिंग यार्ड में हुए मतगणना के बाद दिलचस्प परिणाम सामने आया हैं। प्रखंड के खवासपुर पंचायत में मुखिया पद के लिए सामने आए मतगणना परिणाम में छोटी बहन ने बड़ी बहन को मुखिया पद से कुर्सी छीनी।

मुखिया पद से रेखा देवी ने काफी मतों के अंतर से चुनाव में कामयाबी हासिल करने में सफलता पाई है। इस चुनाव में उन्होनें बड़ी बहन को पराजित कर पिछले 2016 के पंचायत चुनाव में अपनी हार का बदला लिया। इससे पहले के चुनाव में बड़ी बहन रेणु देवी ने अपनी छोटी बहन को पराजित कर मुखिया चुनी गई थी। विजेता मुखिया रेखा देवी को जहां 1502 मत मिले, वहीं बड़ी बहन को 971 मत प्राप्त हुआ। छोटी बहन ने 531 मतों से चुनाव जीत कर अपना परचम लहराया।

कई कद्दावर चेहरे को पराजय का करना पड़ा सामना

फारबिसगंज प्रखंड के विभिन्न पंचायतों के बुधवार को आए मतगणना परिणाम में कई दिग्गज मुखिया प्रत्याशी को पराजय कर सामना करना पड़ा। इनमें फारबिसगंज के पूर्व विधायक रह चुके पदम पराग राय वेणु की धर्म पत्नी वीणा राय जो औराही पश्चिम से मुखिया का चुनाव लड़ रही थी उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा। वहीं फारबिसगंज के पूर्व प्रखंड प्रमुख अशोक विश्वास की धर्मपत्नी आशा देवी भी मझुआ पंचायत से मुखिया पद से चुनाव लड़ रही थी। चुनाव में पराजय मिली। इसी तरह फारबिसगंज के राजद नेता सह निवर्तमान मुखिया अरुण यादव अडऱाहा पंचायत से चुनाव हार गए। परिणाम कई पंचायतों में देखने को मिला।

मतदाता सूची में नाम जोडऩे व सुधार को लेकर चलाया जा रहा जागरूकता अभियान

मतदाता सूची में 18 वर्ष व उससे अधिक उम्र के नागरिक जिसका नाम मतदाता सूची में नाम दर्ज नहीं है। वैसे लोग मतदाता सूची में नाम दूसरे वार्ड में जुड़ गया है वैसे नागरिकों को आगामी रविवार को निकटतम बूथ में जाकर बीएलओ के माध्यम से अपना नाम जोड़ सकते हैं या फिर सुधार करवा सकते हैं। यह जानकारी देते बीडीओ रेखाकुमारी ने बताया कि अभियान सभी रविवार को एक नवंबर से 30 नवंबर तक चलेगा। उन्होंने बताया कि उक्त अभियान को सुचारू रूप से संचालित करने व मतदाता सूची में व्याप्त त्रुटि को दूर करना है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla

भागलपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!