This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

गलती से हुई एक की हत्या, दूसरे को मजबूरी में मार डाला

दारू पीने के लिए जबरन पांच सौ रुपया मांग रहा था, इसी पर कहासुनी और हाथापाई हो गई, फिर बगल में रखे कुदाल वार कर दिया और वह मर गया। इसके बाद दूसरे की मजबूरी में हत्‍या करनी पड़ी।

Ravi RanjanThu, 14 Dec 2017 10:20 PM (IST)
गलती से हुई एक की हत्या, दूसरे को मजबूरी में मार डाला

बेगूसराय [जेएनएन]। दारू पीने के लिए जबरन पांच सौ रुपया मांग रहा था, इसी पर कहासुनी और हाथापाई हो गई, फिर बगल में रखे कुदाल वार कर दिया, जिससे उसका सिर फट गया और वह मर गया। छोटा वहीं, पर खड़ा सब देख रहा था, तो उसे मारपीट कर अधमरा कर दिया, फिर दूसरी जगह ले जाकर गला दबाकर उसकी मजबूरी में हत्या कर दी।

यह बयान गुरुवार को एसपी आदित्य कुमार के कक्ष में आयोजित संवाददाता सम्मेलन के दौरान भगवानपुर के रसलपुर के मुखिया के दो बेटों की हत्या के आरोप में गिरफ्तार मुख्य अभियुक्त संजीत कुमार ने दिए। पुलिस ने दोहरे हत्या मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार आरोपितों के अनुसार

भगवानपुर थाना क्षेत्र के रसलपुर ग्राम पंचायत के वर्तमान मुखिया सीताराम महतो के पुत्र जितेंद्र कुमार उर्फ लम्बु और रामलाल कुमार की बीते दिनों हत्या कर दी गई थी। इस मामले में छह लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी, जिसमें से पुलिस ने चार अभियुक्तों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल कर ली है।

एसपी के समक्ष गिरफ्तार आरोपित संजीत कुमार ने बताया कि वह अपने चचेरे बहनोई रत्नेश उर्फ रौशन चौधरी के यहां शराब पी रहा था। इसी बीच लम्बु और रामलाल वहां आया और शराब पीने के पांच सौ रुपया मांगने लगा, पैसा नहीं देने पर उसकी दोनों से कहा सुनी हो गई। जिस पर उसके जीजा ने कुदाल उठाकर लम्बु के सिर पर मार दिया, जिससे उसका सिर फट गया और वह मर गया।

इस बात पर रामलाल उन दोनों से उलझ गया तो वहां पर मौजूद उसके अन्य साथियों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी और उसे खोदावंदपुर ले जाकर उसकी गला दबा कर हत्या कर दी। एक लाश को तेघड़ा थाना के रामपुर उच्च विद्यालय के निकट तथा दूसरी लाश को खोदावंदपुर थाना के दौलतपुर में फेंक दिया।

एसपी आदित्य कुमार के अनुसार

एसपी आदित्य कुमार ने बताया कि मृतक से आरोपितों ने बालू-गिट्टी खरीदी थी। जिसमें तीस-चालीस हजार रुपया बकाया था। बकाया राशि देने के लिए उसे मुर्गी फार्म पर बुलाकर मुखिया के दोनों पुत्रों की हत्या कर दी। एसपी ने बताया कि उन्होंने तत्काल तेघड़ा डीएसपी के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया।

पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 24 घंटे के अंदर रत्नेश उर्फ रौशन कुमार पिता झुना चौधरी, झुना चौधरी पिता नथुनी चौधरी, मनोज यादव पिता बैजू यादव तीनों साकि भगवानपुर तथा संजीत कुमार पिता स्व. रामानंद सिंह साकिन सिमरिया थाना बरौनी को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपितों के पास से घटना में प्रयुक्त दो मोटरसाइकिल भी बरामद हुई है।

उन्होंने बताया कि संजीत कुमार पूर्व से अपराध में संलिप्त रहा है। उस पर बरौनी चकिया थाना में अलग-अलग तीन मामले दर्ज हैं। जबकि एक मामला भगवानपुर के तेयाय ओपी में दर्ज है। एसपी ने बताया कि टीम लीडर डीएसपी तेघड़ा वीके ङ्क्षसह सहित टीम में शामिल सभी पदाधिकारियों को पुरस्कृत किया जाएगा। जबकि गिरफ्तार आरोपितों पर स्पीडी ट्रायल होगी।

बेगूसराय में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!