इंटर की परीक्षा में कोविड-19 के गाइडलाइन का होगा पालन

संवाद सूत्र बाराहाट (बांका) एक फरवरी से 14 फरवरी तक चलने वाली इंटरमीडिएट परीक्षा कोरोना बंदिशों के बीच प्रखंड के चार स्कूलों मे होगी। इसमें कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। सभी विद्यालयों में प्रवेश पत्र का वितरण शुरू हो गया है। परीक्षा केंद्रों पर मास्क और सैनिटाइज की व्यवस्था होगी।

JagranPublish: Mon, 24 Jan 2022 09:41 PM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 09:45 PM (IST)
इंटर की परीक्षा में कोविड-19 के गाइडलाइन का होगा पालन

संवाद सूत्र, बाराहाट (बांका): एक फरवरी से 14 फरवरी तक चलने वाली इंटरमीडिएट परीक्षा कोरोना बंदिशों के बीच प्रखंड के चार स्कूलों मे होगी। इसमें कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। सभी विद्यालयों में प्रवेश पत्र का वितरण शुरू हो गया है। परीक्षा केंद्रों पर मास्क और सैनिटाइज की व्यवस्था होगी। परीक्षार्थियों को बैठने में शारीरिक दूरी का पालन किया जाएगा। प्रखंड के एसएनएस हाई स्कूल मोहनपुर, डा. हरिहर चौधरी हाई स्कूल बाराहाट, मिर्जापुर चंगेरी हाई स्कूल के अलावा सबलपुर गांधी विद्यालय विक्रमपुर को परीक्षा केंद्र बनाया गया है। परीक्षा केंद्र पर कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सभी परीक्षा केंद्रों पर सु²ढ़ एहतियाती कार्रवाई की जानी है। परीक्षा केंद्रों पर सर्दी खांसी एवं बुखार से पीड़ित परीक्षार्थियों को बैठने के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। परीक्षा केंद्रों की आवासन क्षमता के निर्धारण के क्रम में प्रत्येक बेंच पर अधिकतम दो परीक्षार्थी को सामाजिक दूरी के अनुसार बैठकर परीक्षा संपन्न कराया जाएगा। मोहनपुर के प्रभारी प्रधानाध्यापक अनिमेष चंद्र झा ने बताया कि वरीय अधिकारी के दिशा निर्देश पर सारी तैयारी चल रही है, खासकर कोरोना गाइडलाइन का हर हाल में पालन किया जाएगा।

---------

एसएसपीएस में स्नातक पार्ट थ्री परीक्षा में 463 परीक्षार्थी हुए शामिल

24बीएन 4

संवाद सूत्र, शंभुगंज (बांका) : स्थानीय एसएसपीएस महाविद्यालय में चल रही बीए, बीएससी पार्ट थ्री की परीक्षा शांतीपूर्ण तरीके से संपन्न हो गई है। अंतिम दिन सोमवार को सामान्य विज्ञान एवं कला विषयों के 463 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा दी। परीक्षा नियंत्रक दिवाकर पंजीकार ने बताया कि प्रथम पाली में 55 एवं द्वितीय पाली में 408 छात्र-छात्राओं ने भाग लिया।

महाविद्यालय के प्राचार्य एसपी सिंह ने बताया कि यहां पीबीएस बांका का केंद्र बनाया गया था। सभी परीक्षा शांतिपूर्ण एवं कदाचारमुक्त संपन्न हुई। इधर परीक्षा के अंतिम दिन महाविद्यालय परिसर के बाहर मुख्य सड़क पर छात्र-छात्राओं के साथ अविभावकों की भीड़ लग गई। परीक्षा में प्रवेश के पहले और बाद सड़क पर जाम की स्थिति रही। जिससे वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept