बिहार बंद को लेकर स्टेशनों पर सख्त रही सुरक्षा

रेलवे रिजर्व बोर्ड द्वारा आयोजित एनटीपीसी परीक्षा के घोषित परिणाम में अनियमितता का आरोप लगाते हुए अभ्यर्थियों ने बिहार बंद का आह्वान किया था। शुक्रवार को जिले के विभिन्न स्टेशनों पर बंद बेअसर दिखा। सरकार से आश्वासन मिलने के कारण छात्रों ने रेलवे स्टेशन व ट्रैक को जाम नहीं किया। बंद को लेकर अनुग्रह नारायण रोड स्टेशन पर सुरक्षा का सख्त पहरा रहा। स्टेशनों पर रेल पुलिस के साथ जिला पुलिस के अतिरिक्त जवान तैनात रहे।

JagranPublish: Fri, 28 Jan 2022 09:59 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 09:59 PM (IST)
बिहार बंद को लेकर स्टेशनों पर सख्त रही सुरक्षा

जागरण टीम, औरंगाबाद/ओबरा : रेलवे रिजर्व बोर्ड द्वारा आयोजित एनटीपीसी परीक्षा के घोषित परिणाम में अनियमितता का आरोप लगाते हुए अभ्यर्थियों ने बिहार बंद का आह्वान किया था। शुक्रवार को जिले के विभिन्न स्टेशनों पर बंद बेअसर दिखा। सरकार से आश्वासन मिलने के कारण छात्रों ने रेलवे स्टेशन व ट्रैक को जाम नहीं किया। बंद को लेकर अनुग्रह नारायण रोड स्टेशन पर सुरक्षा का सख्त पहरा रहा। स्टेशनों पर रेल पुलिस के साथ जिला पुलिस के अतिरिक्त जवान तैनात रहे। स्टेशन पर पूरे दिन दंडाधिकारी एवं पुलिस अधिकारी गश्ती करते रहे। दंडाधिकारी अरुण कुमार सिंह, सर्किल इंस्पेक्टर सतीश बिहारी शरण, आरपीएफ इंस्पेक्टर रामविलास राम, जम्होर थानाध्यक्ष संजय कुमार, जीआरपी थानाध्यक्ष कृष्णा कुमार, विशेष शाखा पदाधिकारी मो. शमीम एवं दारोगा रामाशंकर सिंह पूरे दिन सुरक्षा का जायजा लेते रहे। रेलवे ट्रैक जाम करने एक भी छात्र नहीं पहुंच सके। एएन रोड के अलावा सोननगर, फेसर, जाखिम, रफीगंज एवं नवीनगर स्टेशन पर सुरक्षा का पुख्ता प्रबंध किया गया था। सभी जगह पुलिस बल तैनात रहे। संबंधित थानाध्यक्ष जायजा लेते रहे। किसी भी स्टेशन पर छात्र जाम करने नहीं पहुंचे। खबर प्रेषण तक एएन रोड स्टेशन प्रबंधक अरविद कुमार ने बताया कि बिहार बंद का कोई असर नहीं रहा है। स्टेशन पर पूरे दिन शांति का माहौल रहा। सभी ट्रेन अपने समय से आती-जाती रही। कोई ट्रेन रद नहीं किया गया है। छात्रों के समर्थन में सड़क पर उतरा राजद के साथ एनएसयूआइ

- परिणाम में बदलाव को लेकर बिहार बंद का मिला-जुला असर औरंगाबाद : परिणाम में गड़बड़ी को लेकर शुक्रवार को छात्रों के बिहार बंद के समर्थन में राजद के साथ एनएसयूआइ के नेता सड़क पर उतरे। रमेश चौक जाम कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। राजद नेता सुबोध सिंह ने कहा कि सरकार छात्रों पर अत्याचार करना बंद करे। ये छात्र सरकार की लाठी से डरने वाले नहीं हैं। अपनी खामियों को छुपाने के लिए सरकार छात्रों पर लाठियां बरसा रही है। एनएसयूआइ के प्रदेश संयोजक आशुतोष कुमार, जिलाध्यक्ष भीम सिंह चौहान, छात्र राजद जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार यादव ने बताया कि सरकार द्वारा छात्रों पर जो प्राथमिकी दर्ज की गई है उसे तत्काल वापस ले। ग्रुप-डी में दो परीक्षा पीटी और मेंस लेने का फरमान को वापस लिया जाए। परिणाम में हुई गड़बड़ी की जांच कराई कराते हुए दोषियों पर कार्रवाई की जाए। पुन: परिणाम प्रकाशित की जाए। भाई रमेश, विकास कुमार, चंदन, मो. अजहर, साकिब, शुभम सिन्हा, चंदन उपस्थित रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept