This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

ओकिनावा ने 17,900 रुपये घटाई अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की कीमत

ओकिनावा ने फेम-टू पॉलिसी में संशोधन के बाद अपने सभी इलेक्ट्रिक स्कूटरों की कीमत कम कर दी है। देश में इलेक्ट्रिक स्कूटर अपनाने को प्रोत्साहित करने के लिए कंपनी अपने ग्राहकों को 15000 प्रति केडब्ल्यूएच का संपूर्ण सब्सिडी लाभ दे रही है।

Vineet SinghWed, 16 Jun 2021 06:20 PM (IST)
ओकिनावा ने 17,900 रुपये घटाई अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की कीमत

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन निर्माता वाली कंपनी ओकिनावा ने फेम-टू पॉलिसी में संशोधन के बाद अपने सभी इलेक्ट्रिक स्कूटरों की कीमत कम कर दी है। देश में इलेक्ट्रिक स्कूटर अपनाने को प्रोत्साहित करने के लिए कंपनी अपने ग्राहकों को 15000 प्रति केडब्ल्यूएच का संपूर्ण सब्सिडी लाभ दे रही है। अपने सभी मॉडलों पर इसने 7.2 हजार रुपये से लेकर 17.8 हजार रुपये तक कटौती की है। यह कीमत 11 जून 2021 से ही प्रभावी है।

आपको बता दें कि ओकिनावा आईप्रेज प्लस आईओटी सक्षम ऐप से लैस यह स्मार्ट इलेक्ट्रिक स्कूटर अब 17,892 रुपये कम कीमत पर उपलब्ध है यानी अब इसकी कीमत 99,708 रुपये हो गई है। Praise Pro की बात करें तो इसकी कीमत में 7,947 रुपये की कटौती की गई है। इसके बाद ये स्कूटर 76,848 रुपये में खरीदा जा सकता है। Ridge+ की बात करें तो इस स्कूटर की कीमत में 7,209 रुपये की कटौती की गई है। अब ये स्कूटर 61,791 रुपये में उपलब्ध हैं।

इस बारे में ओकिनावा ऑटोटेक के प्रबंध निदेशक और संस्थापक जीतेंद्र शर्मा ने कहा, 'हम अपने ग्राहकों को बहुत किफायती दाम पर सबसे इनोवेटिव इलेक्ट्रिक स्कूटर देने को लेकर बहुत ही रोमांचित और उत्साहित हैं। देश में इलेक्ट्रिक स्कूटरों की कीमत कम रखना एक बड़ी उपलब्धि साबित होगी और ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों को कंबशन—इंजन वाले मॉडल से इलेक्ट्रिक वाहन की ओर आकर्षित करने में मदद मिलेगी। हम भारत सरकार के इस महत्वपूर्ण कदम के लिए आभार व्यक्त करते हैं।'

उन्होंने आगे कहा, 'ओकिनावा में हमारी स्थानीय रणनीति ने हमें उच्च क्वालिटी के उत्पाद पेश करने की अनुमति दी है, जिसने न सिर्फ ग्राहकों के दिमाग में इलेक्ट्रिक स्कूटर के प्रति धारणा बदल दी है, बल्कि उन पर ज्यादा आर्थिक बोझ डाले बगैर यह उत्पाद पेश करने की क्षमता भी दी है। इस वित्त वर्ष के अंत तक 100 फीसदी स्थानीयकृत उत्पाद करने का लक्ष्य हासिल करने की योजना है। हमें पूरा विश्वास है कि हम भारत में दोपहिया इलेक्ट्रिक वाहन उद्योग का स्वरूप बदल देंगे।'

Edited By: Vineet Singh