Hero EV Fire Incidents: फिर लगी एक और इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग! कहीं चार्जिंग के समय आप भी तो नहीं कर रहें यही गलती

ओडिसा में Hero Electric Photon स्कूटर में आग लगने की घटना हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह घटना रात भर रिचार्ज करने के दौरान सॉकेट में शॉर्ट-सर्किट से हुई है जिससे EV सुरक्षा पर फिर सवाल उठ गए हैं। तो चलिए जानते हैं पूरा मामला ।

Sonali SinghPublish: Sat, 28 May 2022 10:58 AM (IST)Updated: Sat, 28 May 2022 10:58 AM (IST)
Hero EV Fire Incidents: फिर लगी एक और इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग! कहीं चार्जिंग के समय आप भी तो नहीं कर रहें यही गलती

 नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। भारत में एक के बाद एक इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों में आग लगने की कई घटना सामने आ रही है। कुछ समय पहले ही Ola और Okinawa के स्कूटरों में आग लगने की घटना सामने आई थी, जिसमें जान-माल का काफी नुकसान हुआ था। इसके बाद भी अन्य ई-स्कूटरों में लगातार इस तरह की घटनाएं देखने को मिल रही थीं। अभी हाल ही में ओडिशा  में Hero Electric Photon स्कूटर में ये घटना हुई। ऐसा पहली बार हुआ है जब भारत के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक के इलेक्ट्रिक स्कूटर में ऐसी कोई घटना हुई है। इतनी बड़ी कंपनी के स्कूटर में आग लगने के बाद EV सुरक्षा को लेकर एक बार फिर सवाल उठने लगे हैं।

क्या है घटना?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह घटना ओडिशा की है, जहां रात भर रिचार्ज करने के दौरान एक हीरो इलेक्ट्रिक फोटोन में आग लग गई। हीरो इलेक्ट्रिक के प्रारंभिक रिपोर्ट में कहा गया है कि यह घटना सॉकेट में शॉर्ट-सर्किट के संभावित कारण की वजह से हुई है। वहीं, ग्राहक के अनुसार, रात भर अपने स्कूटर को चार्ज पर रखने के बाद, उसमें से चटकने की आवाजें आने लगी और चेक करने पर पता चला कि इलेक्ट्रिक स्कूटर के चार्जिंग के लिए जिस इलेक्ट्रिक स्विचबोर्ड का इस्तेमाल किया जा रहा है, वहां से धुंआ निकल रहा था। जब वह मेन का स्विच ऑफ करने के लिए मौके पर पहुंचा, तो स्कूटर पीछे से जल चुका था।

इन कारणों से लग सकती है आग

हीरो इलेक्ट्रिक के मुताबिक, इस घटना का एक संभावित मूल कारण घर के तार और AC फेज का एक दूसरे के संपर्क में आना है, जिसके करना सॉकेट में शॉर्ट-सर्किट हुआ होगा। इसके अलावा, बैटरी में लिथियम आयन का इस्तेमाल करने की वजह से बैटरी का तापमान गर्मी के मौसम में बहुत बढ़ जाता है, जिससे बैटरी फटने की घटनाएं सामने आ रही हैं। वहीं, वाहनों में आग लगने का कारण बीएमएस (बैटरी प्रबंधन प्रणाली), ओवरचार्जिंग, गलत चार्जर का उपयोग आदि हो सकते हैं।

सरकार ने किया है कमिटी का गठन

सरकार ने आग लगने की बढ़ती घटनाओं के कारण इस मामले को लेकर DRDO को जांच के आदेश दिए थे, जहां रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) के सेंटर फॉर फायर एक्सप्लोसिव एंड एनवायरनमेंट सेफ्टी (सीएफईईएस) विंग ने एक रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें इन स्कूटर्स में आग क्यों लगी इस बात से पर्दा उठ गया है। सूत्रों के मुताबिक, जांच में सामने आया है कि जिन बैटरियों में आग लगी थी, उनकी बैटरी पैक डिजाइन और माडयूल में गंभीर समस्या थी। इन्हीं समस्याओं के कारण ओकिनावा आटोटेक, प्योर ईवी, जितेंद्र इलेक्ट्रिक, ओला इलेक्ट्रिक और बूम मोटर्स के इलेक्ट्रिक दोपहिया की बैटरी में आग लगी थी।

Edited By Sonali Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept