Ford इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रोडक्शन के लिए बना रही है योजना, जा सकती है हजारों लोगों की नौकरी

Ford ने पहले चेतावनी दी थी कि इलेक्ट्रिक वाहनों के उत्पादन संख्या में बदलाव से कंपनी को कर्मचारियों की संख्या में कटौती करना होगा क्योंकि इलेक्ट्रिक कारों को बनाने के लिए कम समय तक काम करने की जरूरत होती है।

Sonali SinghPublish: Thu, 23 Jun 2022 08:02 AM (IST)Updated: Thu, 23 Jun 2022 08:15 AM (IST)
Ford इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रोडक्शन के लिए बना रही है योजना, जा सकती है हजारों लोगों की नौकरी

नई दिल्ली, रॉयटर्स। Ford Motor अपने इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेंट का विस्तार करने की योजना बना रही है। बुधवार को कंपनी ने कहा कि वह इस दशक के अंत में स्पेन में इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन शुरू कर देगी, लेकिन इस कदम से कंपनी को नौकरियों में कटौती करना होगा। इसके लिए कंपनी अपने स्पेनिश कारखाने और जर्मनी कारखाने में काफी संख्या में नौकरी की कटौती करेगी।

फोर्ड ने पहले ही चेतावनी दी थी कि इलेक्ट्रिक वाहनों के उत्पादन संख्या में बदलाव से कंपनी को कर्मचारियों की संख्या में कटौती करना होगा क्योंकि इलेक्ट्रिक कारों को बनाने के लिए कम समय तक काम करने की जरूरत होती है। बता दें कि वर्तमान समय में फोर्ड के वालेंसिया (स्पेन) प्लांट में लगभग 6,000 लोग कार्यरत हैं, जबकि सारलुइस (जर्मनी) में लगभग 4,600 लोग को काम पर रखा गया है। अब फोर्ड के इस बयान के बाद इन सभी कर्मचारियों की नौकरियों में खतरा मंडरा रहा है।

कंपनी की यह है योजना

फोर्ड ने अपनी EV योजना के लिए पहले ही विभिन्न प्लांट साइट्स को तलाशना शुरू कर दिया था। अमेरिका स्थित कार निर्माता ने एक बयान में कहा कि उसने वालेंसिया में स्थित अपने प्लांट को अगली पीढ़ी के इलेक्ट्रिक वाहन आर्किटेक्चर के लिए पसंदीदा साइट के रूप में चुना है। कंपनी के एक प्रवक्ता ने रॉयटर्स को इस बात कि पुष्टि की है कि अपने प्लान के लिए स्पेन के बाद अन्य दावेदार जर्मनी के सारलुइस में फोर्ड का प्लांट था, जो 2025 तक अपनी फोकस पैसेंजर कार का उत्पादन जारी रखेगा, इसके बाद कार का उत्पादन बंद कर दिया जाएगा। इसके अलावा प्रवक्ता ने कहा कि इन सबके अलाव कंपनी इन साइटों से भविष्य में मिलने वाले अवसरों का मूल्यांकन भी कर रही है।

विभिन्न सेगमेंट में शुरू हो चुके हैं काम

स्पैनिश यूनियन यूजीटी के मुताबिक, कंपनी द्वारा 2025 में ईवी उत्पादन शुरू होने की उम्मीद है। इसके अलावा यूनियन कंपनी के साथ चर्चा भी करेगा कि EV योजना के साथ कार्यबल का आकार कैसे बदला जाएगा। गौरतलब है कि इसी साल मार्च में फोर्ड ने यूरोप में सात नए इलेक्ट्रिक मॉडल, जर्मनी में एक बैटरी असेंबली साइट और तुर्की में एक निकल सेल निर्माण संयुक्त उद्यम की योजना की घोषणा की थी। इसके साथ ही कंपनी ने घोषणा की थी कि 2023 में वह जर्मनी के कोलोन प्लांट में एक नए इलेक्ट्रिक यात्री वाहन का उत्पादन शुरू करेगी, जबकि इसके प्यूमा मॉडल का एक ईवी वर्जन साल 2024 से रोमानिया में तैयार किया जाएगा।

भारत में भी शुरू हो चुका है काम

भारत में स्थित फोर्ड के प्लांट की बात करें तो चेन्नई स्थित फोर्ड के प्लांट में लगभग 1,100 कर्मचारियों ने काम फिर से शुरू कर दिया है, हालांकि मजदूर संघ और प्रबंधन के बीच सेवा समाप्ति पैकेज पर कोई समझौता नहीं हुआ है। आपको बता दें, बेहतर सेवा समाप्ति पैकेज की मांग को लेकर पिछले 22 दिन से कर्मचारी प्रदर्शन कर रहे हैं।

Edited By Sonali Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept