चीनी कंपनी CATL ने EVs के लिए बनाई जबरदस्त बैटरी, सिंगल चार्ज में करें 1,000 किलोमीटर तक का सफर

चीन की कंपनी CATL ने नई बैटरी को पेश किया है जो एक बार चार्ज होने पर 1000 किमी की दूरी तय कर सकती है। इस बैटरी का नाम  Qilin है और इसकी क्षमता 72 प्रतिशत है। यह 255 Wh प्रति किलोग्राम की एनर्जी भी जनरेट करती है।

Sonali SinghPublish: Sun, 26 Jun 2022 10:30 AM (IST)Updated: Mon, 27 Jun 2022 06:59 AM (IST)
चीनी कंपनी CATL ने EVs के लिए बनाई जबरदस्त बैटरी, सिंगल चार्ज में करें 1,000 किलोमीटर तक का सफर

 नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। चीन की लिथियम आयन बैटरी बनाने वाली कंपनी कन्टेम्परेरी एम्पीयरेक्स टेक्नोलॉजी लिमिटेड (CATL) ने एक अनोखी बैटरी तैयार की है। इस बैटरी को खास इलेक्ट्रिक कारों (EV) के लिए बनाया गया है। अगर आप इस बैटरी को अपनी कार में लगाते हैं तो यह सिंगल चार्ज में कुल 1,000 किलोमीटर तक की रेंज दे सकती है। कंपनी का मानना है कि इस बैटरी के आने से इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन मिलेगा और काफी हद तक प्रदूषण कंट्रोल होगा। आपको बता दें चीन की कंपनी CATL, इलेक्ट्रिक कार की बैटरी बनाने के लिए दुनियाभर में काफी चर्चित है।

चार शहरों में शुरू होगा प्रोडक्शन

आपको बता दे कंपनी इस बैटरी का प्रोडक्शन चीन के चार शहरों में शुरू करने वाली है। इन शहरों में कंपनी लिथियम-आयन बैटरी मैन्युफैक्चरिंग के प्रोडक्शन का काम शुरू करने वाली है। CATL ने इस साल पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण इस बैटरी को बनाने का निर्णय लिया था, क्योंकि इन बढ़ती कीमतों के कारण ही कंपनी को घाटे का सामना करना पड़ा है।

क्या है इस बैटरी का नाम

ये सेल -टू- पैक की तीसरी जनरेशन की बैटरी है। कंपनी ने इस बैटरी का नाम  Qilin रखा है। इस बैटरी की उपयोग क्षमता 72 प्रतिशत है और यह 255 Wh प्रति किलोग्राम की एनर्जी भी जनरेट करती है। कंपनी इस बैटरी का प्रोडक्शन बड़े पैमाने पर करेगी और 2023 तक इसे बाजार में उतारेगी।

सबसे सुरक्षित और फास्ट है इसकी चार्जिंग

कंपनी ने कहा है कि Qilin बैटरी अन्य बैटरियों के मुकाबले सबसे ज्यादा तेजी से चार्ज होती है। इसके साथ-साथ ये सबसे सुरक्षित और  ज्यादा ड्यूरेबल भी है। कंपनी के लिए इस बैटरी के बारे में बताना ही काफी मुनाफे वाला है क्योकि बैटरी की बात सामने आने के बाद चीन के शहर शेनजेन में CATL का शेयर 5.9 प्रतिशत ऊपर चला गया है, जो 9 फरवरी के बाद से अब तक का सबसे ऊपरी स्तर भी है।

लेखक- आयुषी चतुर्वेदी

Edited By Sonali Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept