शायद कुछ दिन और लगेंगे
Wed, 19 Apr 2017 02:51 PM (IST)

शायद कुछ दिन और लगेंगे, जख्मे-दिल के भरने में,

जो अक्सर याद आते थे वो कभी-कभी याद आते हैं।

Tags: # shayri ,  # Hindi shayri ,  # sad shayri ,  # shayri in hindi ,