• PICS: जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में स्‍कूलों में सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम

    loader

    जन्माष्टमी की तैयारियां उत्‍तराखंड में चरम पर हैं। कुछ मंदिरों में 14 अगस्त तो कुछ में 15 अगस्त को जन्माष्टमी महोत्सव मनाया जाएगा। ज्योतिषाचार्यों की मानें तो गृहस्थों के लिए 14 को ही जन्माष्टमी व्रत और पूजन करना श्रेष्ठ है। वहीं, जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में स्‍कूलों में सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की धूम रही। जन्माष्टमी पर्व को लेकर पौड़ी जिले के श्रीनगर गढ़वाल क्षेत्र के श्रीकोट गंगानाली में झांकी निकालते सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज के छात्र-छात्राएं।

  • PICS: जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में स्‍कूलों में सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम

    हरिद्वार के ओलिविया इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में कृष्‍ण और गोपियों की वेश स्‍कूली बच्चे।

  • PICS: जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में स्‍कूलों में सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम

    हरिद्वार के डीपीएस स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में प्रस्तुति देते बच्चे।

  • PICS: जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में स्‍कूलों में सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम

    ऋषिकेश के सरस्व्ती विद्यामंदिर आवास विकास में जन्माष्टमी कार्यक्रम के दौरान राधा-कृष्ण के परिधानों में सजी छात्राएं।

  • PICS: जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में स्‍कूलों में सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम

    देहरादून जिले के विकासनगर के सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज नयी यमुना कालोनी डाकपत्थर में जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में कान्हा बने बच्चे।

Share

संबंधित