दरगाह पर हमले के बाद पाक सेना ने मार गिराए 100 आतंकी

Fri, 17 Feb 2017 09:52 PM (IST)

इस्लामाबाद, प्रेट्र। सूफी संत लाल शहबाज कलंदर की दरगाह पर आत्मघाती धमाका कराने वाले आतंकियों को पाकिस्तान ने हाथोंहाथ सजा देना शुरू कर दिया है। गुरुवार रात इस धमाके में मारे गए बेकसूर लोगों का बदला लेते हुए पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने सौ से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया। आतंकियों के खात्मे के लिए देशभर में पूरी रात अभियान चलाया गया।

सेना अधिकारियों ने आतंकियों को नेस्तनाबूद करने तक अभियान जारी रहने की बात कही है। सिंध प्रांत स्थित शहबाज कलंदर की दरगाह पर हुआ यह आतंकी हमला पिछले कुछ वर्षो में पाकिस्तान में हुए सर्वाधिक घातक हमलों में से है। इसमें करीब 100 लोगों की मौत हो गई, जबकि 250 लोग घायल हुए हैं। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आइएस ने ली है। पैरामिलिट्री सिंध रेंजर्स ने बताया कि प्रांत में रातभर चले अभियान में चार दर्जन से ज्यादा आतंकियों को मौत के घाट उतारा गया। वहीं, खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की पुलिस ने तीन दर्जन आतंकियों को मारने का दावा किया है।

अधिकारियों के मुताबिक, कबायली क्षेत्र खुर्रम, बलूचिस्तान और पंजाब प्रांत के सरगोधा में भी कई आतंकियों को मारने में सफलता मिली। सेना अधिकारियों ने बताया कि आतंकियों के खिलाफ यह अभियान आगे और भी तेज होगा क्योंकि सरकार ने आतंकवाद को जड़ से मिटाने का संकल्प लिया है।

हमले के खिलाफ प्रदर्शन

पाकिस्तान में लोगों ने शुक्रवार को आतंकी हमले के खिलाफ प्रदर्शन किया। लोगों ने नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करने में असफल रही सरकार के खिलाफ नारे लगाए। प्रदर्शनकारियों ने कई गाडि़यों में तोड़फोड़ की और पुलिस की गाड़ी को आग लगा दी। एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि दरगाह में हजारों लोग आते हैं और उनकी जांच के लिए सिर्फ एक स्कैनर लगा है। वह भी सही तरह से काम नहीं करता।

अफगानिस्तान को सौंपी आतंकियों की सूची

पाकिस्तानी सेना ने अफगानिस्तान को वहां छुपे 76 आतंकियों की सूची सौंपी है। सैन्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बताया कि अफगान दूतावास के अधिकारी को बुलाकर यह सूची सौंपी गई। अफगान सरकार से इन आतंकियों के विरुद्ध शीघ्र कार्रवाई को कहा गया है। हालांकि सेना ने सूची में शामिल आतंकियों का नाम सार्वजनिक नहीं किया है।

अफगान सीमा सील

पाकिस्तान ने शुक्रवार अलसुबह अफगानिस्तान से लगी तोरखाम सीमा सील कर दी। यह सीमा अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत और पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा को जोड़ती है। यहां से रोजाना हजारों अफगान नागरिक अपने परिचितों से मिलने और दवाएं आदि लेने पाकिस्तान आते हैं। इस फैसले के कारण बड़ी तादाद में लोग सीमा पर फंस गए हैं।

पढ़ेंः अफगानिस्तान से लगती सीमा को पाक ने किया सील, मांगे 76 मोस्ट वांटेड आतंकी

Tags: # Pakistan ,  # 45militant ,  # crackdown ,  # Sufi shrine blast ,  # India , 

PreviousNext