फिर दुनिया में सबसे तेज निकला चीन का सुपर कंप्यूटर

Mon, 19 Jun 2017 08:51 PM (IST)

बीजिंग, प्रेट्र। चीन के सुपर कंप्यूटर ने एक बार फिर दुनिया का सबसे तेज कंप्यूटर होने का खिताब हासिल किया है। सुपर कंप्यूटर की टॉप 500 की छमाही सूची में यह बात सामने आई है। सूची में चीन के सनवे ताइहूलाइट को पहला और तियानहे-2 को दूसरा स्थान मिला है।

अमेरिका और जर्मनी के विशेषज्ञों द्वारा तैयार की जाने वाली इस सूची में सनवे ताइहूलाइट ने लगातार तीसरी बार पहला स्थान हासिल किया है। इससे पहले तीन साल यानी लगातार छह बार तियानहे-2 इस स्थान पर काबिज था। इस बार सूची में तीसरा स्थान स्विट्जरलैंड के पिज डेंट को मिला है। पहले स्थान पर रहे सनवे ताइहूलाइट की बड़ी खूबी यह है कि इसमें पूरी तरह चीन में तैयार प्रोसेसर लगा है। इसकी गति 93 पेटाफ्लोप्स (93 लाख अरब फ्लोटिंग पॉइंट ऑपरेशन प्रति सेकेंड) पाई गई।

चीन के नेशनल सुपर कंप्यूटिंग सेंटर के उपनिदेशक हाओहुआन फू ने कहा, 'यह सुपर कंप्यूटर बनाने की दिशा में चीन की क्षमता दिखाता है। चीन एक साथ सुपर कंप्यूटिंग के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का निर्माण कर रहा है। देश में तैयार हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की मदद से बने सुपर कंप्यूटर कई क्षेत्रों में विकास को गति देंगे।' दूसरे स्थान पर रहे तियानहे-2 की गति 33.9 पेटाफ्लोप्स पाई गई।

तीसरे स्थान पर रहे स्विट्जरलैंड के सुपर कंप्यूटर की गति 19.6 पेटाफ्लोप्स रही। 17.6 पेटाफ्लोप्स की गति के साथ अमेरिका के ओक रिज नेशनल लैबोरेटरी में स्थापित सुपर कंप्यूटर टाइटन को सूची में चौथा स्थान मिला। 24 साल में पहली बार अमेरिका टॉप 3 से बाहर हुआ है। हालांकि टॉप 10 में अमेरिका के पांच सुपर कंप्यूटर शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: ड्राइवर को सोने नहीं देगा खास एप

Tags: # America ,  # China ,  # Super Computer ,  # Fastest Super Computer of the World ,  # International News , 

PreviousNext
 

संबंधित

लगातार आठवीं बार सबसे तेज निकला चीन का सुपर कंप्यूटर

शिन्हुआ ने कहा है कि चीन के सुपर कंप्यूटर ने लगातार आठवीं बार इस सूची में पहला स्थान बनाए रखा है। यह उच्च स्तरीय कंप्यूटिंग में चीन के उभार को दर्शाता है।