सर्जिकल स्ट्राइक के कमांडर को राष्ट्रपति ने दिया कीर्ति चक्र

Tue, 21 Mar 2017 07:41 AM (IST)

नई दिल्ली, प्रेट्र। पिछले वर्ष सितंबर में पाकिस्तान अधिकृत गुलाम कश्मीर में घुसकर आतंकवादियों के ठिकानों को तबाह करने वाले सर्जिकल स्ट्राइक टीम में शामिल सेना के जांबाजों को वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इस अहम सैन्य अभियान के कमांडर पैराशूट रेजिमेंट के मेजर रोहित सूरी को शांति समय का दूसरा सर्वोच्च वीरता पुरस्कार कीर्ति चक्र प्रदान किया गया।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को उन्हें यह सम्मान प्रदान किया। सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान अदम्य बहादुरी दिखाने के लिए नायब सूबेदार विजय कुमार को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। अभियान में शामिल अन्य जवानों को भी अहम पुरस्कार दिए गए।

प्रणब ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में वीर जवानों को सम्मानित किया। इस मौके पर उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री अरुण जेटली सहित कई अन्य मंत्री और उच्चाधिकारी मौजूद थे। एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान मेजर सूरी ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए नजदीकी मुकाबले में दो खूंखार आतंकवादियों को मार गिराया।

सभी आतंकवादियों को मार गिराने का मिशन पूरा करने बाद ही जवानों की टीम उनके नेतृत्व में अपने ठिकाने पर सकुशल लौटी। इसी प्रकार नायब सूबेदार विजय ने भी जान की परवाह किए बगैर दहशतगर्दो के ठिकाने को तबाह किया और दो आतंकियों को मौत के घाट उतारा।

यह भी पढ़ेंः चीन ने भारत को दी धमकी, दलाई लामा के लिए रिश्ते ना करें खराब

यह भी पढ़ेंः यौन उत्पीड़न की शिकार महिलाओं को तीन महीने का वैतनिक अवकाश

Tags: # Pranab Mukherji ,  # President ,  # Kirti Chakra ,  # Surgical Strike Commander , 

PreviousNext
 

संबंधित

तीन जांबाजों को वीरता के लिए मिला कीर्ति चक्र सम्मान

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आतंकियों, उग्रवादियों और नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान असाधारण वीरता दिखाने के लिए सेना, पुलिस और सुरक्षा बलों के तीन जवानों को जहां कीर्ति चक्र अवार्ड प्रदान किया, वहीं दस जांबाजों को शौर्य चक्र पुरस्कार से नवाजा। उन्होंने सीआरपीएफ के सिपाही भृगु नंदन चौधरी और असम पुलिस के इंस्पेक्टर लोहित सोनोवाल को वीरता के लिए दिया जाने वाला दूसरा सर्वोच्च सम्मान कीर्ति चक्र मरणोपरांत प्रदान किया।