सरकार ने आइटीबीपी में अतिरिक्त महानिदेशक का पद बहाल किया

Mon, 17 Jul 2017 09:08 PM (IST)

नई दिल्ली, प्रेट्र। केंद्र सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) में अतिरिक्त महानिदेशक का पद बहाल कर दिया है। माना जा रहा है कि भारत-चीन सीमा पर पिछले कुछ समय से लगातार चल रही तनातनी को देखते हुए सरकार इस अर्धसैनिक बल को और मजबूत करना चाहती है।

1986 बैच के आइपीएस अधिकारी आरके मिश्रा ने सोमवार को आइटीबीपी के अतिरिक्त महानिदेशक का कार्यभार संभाल लिया। इससे पहले एनडीआरएफ और आइटीबीपी दोनों अर्धसैनिक बलों को एक ही अतिरिक्त महानिदेशक के अधीन काम करना पड़ता था। लेकिन, फरवरी 2014 में सरकार ने आइटीबीपी से यह पद लेकर एनडीआरएफ को सौंप दिया।

हालांकि, हालिया घटनाओं को देखते हुए सरकार ने महसूस किया कि परिचालन को और प्रभावी बनाने के लिए अतिरिक्त महानिदेशक होना जरूरी है। इसके बाद गृह मंत्रालय ने एक आदेश जारी कर फिर से आइटीबीपी में अतिरिक्त महानिदेशक का पद बहाल कर दिया।

यह भी पढ़ेंः फिर चला तबादले का खेल, DIG रूपा, शशिकला और जेल

यह भी पढ़ेंः राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग खत्म, 20 जुलाई को आएगा परिणाम

Tags: # Central Government ,  # ITBP additional director general post ,  # ITBP , 

PreviousNext
 

संबंधित

2010 में रंजीत सिन्हा का नाम पैनल में रखना भूल गई थी कमेटी

सीबीआई के नए निदेशक के तौर पर रंजीत सिन्हा के नाम पर मुहर लगाने से पूर्व वर्ष 2010 में सरकार उनको इस पद के लिए भूल गई थीं। वर्ष 2010 में सरकार ने बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी रंजीत सिन्हा को सीबीआई में उच्च पद पर नियुक्त करने से दूर रखा था। हालांकि उस वक्त रंजीत सिन्हा सरकार द्वारा तय चुने गए तीन लोगों के मुकाबले वरिष्ठ पद