भारत में सामान के बहिष्कार से चीन की नींद उड़ी, बोला- निवेश प्रभावित होगा

Fri, 28 Oct 2016 01:04 AM (IST)

नई दिल्ली, प्रेट्र । मौजूदा त्योहारी सीजन के दौरान आम लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर चीन के उत्पादों के बहिष्कार की अपीलें किये जाने पर चीन ने कहा है कि इस तरह के कदमों से भारत में उसकी कंपनियों के निवेश पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। इससे दोनों देशों के बीच संबंधों पर भी प्रभाव पड़ेगा।

भारत में चीन के दूतावास ने एक बयान में कहा कि इस तरह के बहिष्कार से उसके निर्यात पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा लेकिन समुचित विकल्प न होने पर बहिष्कार का सबसे ज्यादा नुकसान भारतीय व्यापारियों और उपभोक्ताओं को ही होगा। बयान के अनुसार चीन दुनिया का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है। उसका कुल निर्यात 2276.5 अरब डॉलर है। भारत को उसका निर्यात सिर्फ दो फीसद है। ऐसे में चीनी वस्तुओं के बहिष्कार से उसके निर्यात पर कोई खास असर नहीं होगा।

चीन निर्मित का पता लगते ही सामान छोड़ रहे ग्राहक

चीन इस बात को लेकर ज्यादा चिंतित है कि इससे भारत में चीन की कंपनियों का निवेश प्रभावित होगा। गौरतलब है कि भारत-पाक के बीच तनाव बढ़ने पर चीन द्वारा पाक का समर्थन किये जाने के बाद आम लोग सोशल मीडिया पर नाराजगी जता रहे हैं और उत्पादों का बहिष्कार करने की अपील कर रहे हैं।

Tags: # chinese crackers ,  # firecracker ,  # delhi ,  # campaign in social media ,  # boycott chinese material , 

PreviousNext