अमित शाह ने बताया सिद्धारमैया सरकार को 'भ्रष्ट और बेशर्म'

Sun, 13 Aug 2017 01:10 PM (IST)

नई दिल्ली। कर्नाटक के तीन दिवसीय दौरे पर शनिवार को बेंगलुरू पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने वहां अगले साल होने वाले चुनाव पर अपना और पार्टी का रुख साफ कर दिया है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि वे कर्नाटक दौरे पर आए हैं ताकि 2018 विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की तैयारियों को दिशा मिल सके। 

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कर्नाटक सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अपने सार्वजनिक जीवन में उन्होंने राज्‍य की सिद्धारमैया सरकार जैसी 'भ्रष्ट और बेशर्म' सरकार देश में कहीं और नहीं देखी। 

उन्होंने यहां पार्टी द्वारा आमंत्रित बुद्धिजीवियों के एक समूह को संबोधित करते हुए कहा कि कई छापों और गिरफ्तारियों के बावजूद कांग्रेस ने किसी भी गड़बड़ी करने वाले को सजा नहीं दी क्‍योंकि उन्हें डर है कि वे सरकार की पोल खोल देंगे। 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने 106 केंद्रीय योजनाएं शुरू कीं, लेकिन उनके लाभ राज्य में लोगों तक नहीं पहुंच रहे हैं।

"भारत माता की जय" के नारों के बीच, शाह ने कहा, "भाइयों और बहनों, मेरे पास आज कहने के लिए ज्यादा कुछ नहीं है, सिवाय- अब की बार, भाजपा सरकार।"

शाह ने दोहराया कि पार्टी की राज्य इकाई को एक साथ आना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बीएस येदियुरप्पा 2018 का चुनाव जीतें और राज्य में भाजपा की सरकार बने।

यह भी पढ़ें: कॉलगर्ल पसंद नहीं आई तो दलाल ने कर दी युवक की हत्या

यह भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 35 ए पर पीडीपी के रुख से भाजपा में असंतोष


 

Tags: # BJP chief ,  # Narendra Modi government ,  # Amit Shah ,  # Karnataka Government ,  # Corrupt ,  # अमित शाह ,  # भाजपा ,  # भष्ट सरकार , 

PreviousNext
 

संबंधित

1999 से काफी बदल चुकी है भाजपा, अब दिखाई दे रही है पार्टी की 'पावर पॉलिटिक्‍स'

भाजपा आज जिस मुकाम पर पहुंची है उससे पहले उसने काफी मशक्‍कत भी की है। 1999 में महज एक वोट से भाजपा सरकार के गिरने के बाद उसकी रणनीति और नेताओं दोनों में ही आज बदलाव हाे चुका है।