होम»»

क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल में आप भी तो नहीं करते ये 10 गलतियां, जानिए

Tue, 09 May 2017 04:31 PM (IST)

नई दिल्ली (जेएनएन)। समय पर पैसों की जरूरत के लिहाज से क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल तेजी से बढ़ा है। आंकड़ों के मुताबिक देश में करीब 28 मिलियन क्रेडिट कार्ड यूजर्स हैं। अगर आप नौकरीपेशा हैं तो आपके पास भी बैंकों की तरफ से क्रेडिट कार्ड लेने के लिए फोन आते रहे होंगे। लेकिन क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल सावधानी बरतने की जरूरत होती है।

अगर क्रेडिट कार्ड का दुरुपयोग हो तो यह एक खतरनाक चीज हो सकती है। लेकिन अगर इसका सही तरीके से उपयोग किया जाए है, तो यह वास्तव में काफी सारे लाभ प्रदान कर सकता है। अपने क्रेडिट कार्ड का अधिकतम लाभ उठाने के लिए, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपसे कुछ भूलें न हों।

अपने बिल का देर से भुगतान करना:
समय पर क्रेडिट कार्ड बिलों का भुगतान न करने से आपको एक से अधिक तरीकों से नुकसान हो सकता है। अपने न्यूनतम बिल का समय पर भुगतान न करने की वजह से आपको लेट पेमेंट फीस का भी भुगतान करना पड़ सकता है। साथ ही देरी से भुगतान करने पर आपका क्रेडिट स्कोर भी प्रभावित हो सकता है।

अगर आप सिर्फ मिनिमम पेमेंट का भुगतान करते हैं तो:
अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड के लिए सिर्फ मिनिमम पेमेंट का भुगतान करते हैं तो यह भी एक गलत आदत है। मिनिमम पेमेंट के भुगतान से बेहतर है कि आप कुछ भी भुगतान न करें। ऐसे करने से आपको ऊपर ब्याज का बोझ भी तेजी से बढ़ता चला जाता है। ऐसे में जितनी लंबी अवधि तक आप अपने कार्ड पर पेमेंट को बनाए रखते हैं उससे आपका क्रेडिट स्कोर भी प्रभावित होता है।

क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़वाना भी खतरनाक:
अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़वाते रहते हैं तो यह भी कई स्तर पर खतरनाक है। इसका कारण यह है कि आप पर जितना चार्ज लगता है आप अपने बैलेंस के भुगतान के लिए उतना ही संघर्ष करते हैं। क्रेडिट कार्ड की लिमिट को बढ़वाने से आपके क्रेडिट उपयोग का अनुपात भी बढ़ सकता है। लिमिट में जो भी इजाफा होता है वो आपके क्रेडिट कार्ड के उपयोग करने के लिए होता है, लेकिन जब ऐसा होता है आपका क्रेडिट स्कोर प्रभावित होता है।

बिना किसी वाजिब कारण के पुराना क्रेडिट कार्ड बंद करवाना:
ऐसा देखा जाता है कि छठे चौमासे इस्तेमाल में आने वाले क्रेडिट कार्ड को लोग बंद करवा देते हैं। लेकिन अगर आपके पास कोई ऐसा कार्ड है जो काफी पुराना है लेकिन उसका इस्तेमाल कभी कभी ही होता है तो इसे ओपन रखना ही आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसका पहला फायदा यह होता है कि अगर आप लंबे समय तक ऐसे खाते को ओपन रखते हैं तो यह आपकी क्रेडिट हिस्ट्री के लिए फायदेमंद रहता है।

क्रेडिट कार्ड की शर्तों को नजरअंदाज करना:
बैंक की ओर से क्रेडिट कार्ड दिए जाने से पहले एक लंबा करार किया जाता है, जिसमें कुछ कानूनी क्लॉज शामिल होते हैं, लेकिन वास्तव में, कागज का वह टुकड़ा उन जानकारियों से भरा होता है जिसे आपको जानने की आवश्यकता होती है। अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड से जुड़ी शर्तों व नियम को बखूबी जानते हैं तो यह आपको खरीद निर्णयों में मदद कर

बेहतर टर्म के बारे में नहीं पूछना:
आप सोचते होंगे कि आपके क्रेडिट कार्ड से जुड़े टर्म पत्थर पर लिखी बात हैं लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि अगर आप अपने बैंक से जानकारी लेते रहते हैं तो यह आपके लिए ज्यादा बेहतर साबित हो सकता है। क्रेडिट कार्ड डॉट कॉम के सर्वे के मुताबिक 80 फीसद से अधिक कार्डधारक अपने क्रेडिट कार्ड के नियमों को लगातार सुधारने में सफल रहे हैं क्योंकि वो इस संबंध में सीधे अपने बैंक से समय समय पर पूछताछ करते रहे। अगर आपमें लगातार पूछने (बैंक के संपर्क में रहने की) की आदत है को आप अपनी सालाना फीस को भी कम ब्याज दर के साथ कम करवा सकते हैं।

सालाना फीस का भुगतान लेकिन बदले में कुछ नहीं:
अगर आपका क्रेडिट स्कोर खराब है या आप काफी सारे फायदों वाला कार्ड चाहते हैं, तो आपके पास सालाना फीस का भुगतान करने के अलावा अन्य कोई विकल्प नहीं होता है। लेकिन इसके उलट अगर आपका क्रेडिट मजबूत है तो आपको काफी सारे फायदे हो सकते हैं। काफी सारे बैंक फ्री क्रेडिट कार्ड की सुविधा देते हैं।

बैंकों के लालची ऑफर्स से बचें:
काफी सारी क्रेडिट कार्ड कंपनियां ग्राहकों को डिफर्ड इंट्रेस्ट रेट के साथ लुभाने का प्रयास करती हैं जिसका मतलब होता है कि आप आज से कार्ड का इस्तेमाल करना शुरू करें और निकट अवधि में आपको अपने बैलेंस पर किसी भी तरह के ब्याज का भुगतान नहीं करना पड़ेगा। लेकिन ऐसे में ग्राहकों को यह अंदेशा नहीं रहता है कि अगर आप समय पर अपने बिल का भुगतान नहीं कर पाते हैं और आपका फ्री ग्रेस पीरियड खत्म भी खत्म हो जाता है, तब क्रेडिट कार्ड कंपनियां आपके मूल बैलेंस पर व्यापक स्तर पर चार्ज वसूलती हैं। इस लिहाज से यह भी नुकसानदेह होता है।

कार्ड खोने की तुरंत रिपोर्ट न करना:
अधिकांश जारीकर्ता खोए हुए या चोरी हुए क्रेडिट कार्ड पर किए गए आरोपों से सुरक्षा प्रदान करते हैं, लेकिन अहम बात यह है कि आप अपने नुकसान पर तुरंत कार्यवाही करें, ताकि नुकसान को कम किया जा सके। कार्ड खोने की सूरत में आप जितनी जल्दी इसकी रिपोर्ट करते हैं आपके लिए यह उतना ही फायदेमंद रहता है।

अपने रिवार्ड को एक्सपायर होने देना:
एक क्रेडिट कार्ड के बावजूद दूसरे कार्ड का चयन करना पेश होने वाले रिवार्ड ऑफर्स होते हैं। लेकिन कुछ रिवार्ड्स की कोई अंतिम तारीख नहीं होती है जबकि कुछ इसकी पेशकश करते हैं। हमें हमेशा इस बात पर नहीं ध्यान देना चाहिए कि आपके पास कितने रिवार्ड प्वाइंट बल्कि इस पर भी गौर करना चाहिए कि आप उन्हें कब तक भुना या उनका फायदा ले सकते हैं।

Tags: # credit card ,  # debit card ,  # reward points ,  # redeem ,  # minimum payment ,  # business news in hindi , 

PreviousNext
 

संबंधित

क्रेडिट कार्ड EMI या पर्सनल लोन, जानिए आपके लिए क्या है बेहतर

तमाम पैमानों पर आप खुद परख सकते हैं कि आपके लिए क्रेडिट कार्ड और पर्सनल लोन में से कौन सा बेहतर हो सकता है।